घपले में फंसे बाबू पर गिरी गाज, सस्पेंड

Rampur Updated Thu, 31 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

रामपुर। आठ लाख रुपये के गबन के मामले में फंसे कलेक्ट्रेट के एक बाबू को सस्पेंड कर दिया गया है। उस पर काफी समय पहले आरोप लगे थे, जिस पर जांच भी कराई गई थी। जांच के बाद डीएम ने यह कार्रवाई की है।
विज्ञापन

कलेक्ट्रेट में डीएलआरसी के पद पर तैनात बाबू पर कुछ समय पहले आठ लाख रुपये के गबन करने का आरोप लगा था। आरोप लगने के बाद तत्कालीन जिलाधिकारी ने इस मामले की जांच बैठा दी थी। जांच रिपोर्ट में डीएलआरसी के पद पर तैनात बाबू पर आठ लाख रुपये के सरकारी धन के गबन की पुष्टि हो गई थी। मामले की रिपोर्ट शासन को भी भेज दी गई थी। शासन ने गबन के मामले में फंसे डीएलआरसी के बाबू के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे, लेकिन डीएम के तबादले के बाद इस मामले की फाइल पेंडिंग में पड़ गई थी। एक बार फिर इस मामले की फाइल को खोल दिया गया है। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने गबन के आरोपों की पुष्टि हो जाने के पर डीएलआरसी के पद पर तैनात बाबू दिलीप सक्सेना को सस्पेंड कर दिया है। डीएम की इस कार्रवाई से खलबली मच गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us