बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

किशोरी की जिंदगी को निगल गई ढांग

Rampur Updated Wed, 30 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

मिलक। मिट्टी खोदते वक्त गिरी ढांग एक किशोरी की जिंदगी निगल गई। दो लड़कियों को लोगों ने बचा लिया। एसडीएम और तहसीलदार ने मौके का जायजा लिया है।
विज्ञापन

कोतवाली क्षेत्र के कूप गांव निवासी सूरजपाल सिंह की सोलह वर्षीय बेटी कामना और पड़ोसी ओमपाल सिंह की बेटी छाया और देवेंद्र सिंह की बेटी नेमवती गांव के बाहरी छोर पर पीली मिट्टी लेने गई थीं। सभी लड़कियां ढांग के नीचे बैठकर मिट्टी की खुदाई करने लगीं। इसमें कामना खुदाई करते करते ढांग के अंदर तक चली गई। पास बैठी छाया और नेमवती खुदाई कर रही थी। मिट्टी की ढांग गिर गई। इसमें तीनों लड़कियां दब गईं। कामना मिट्टी की ढांग में पूरी तरह दब गई। दो लड़कियां चपेट में आ गईं। साथ गई लड़कियों ने शोर मचा दिया। पास में मैथा टंकी से लोग मौके पर दौड़े और ढांग को हटाने की कोशिश की। इसमें छाया और नेमवती को जिंदा बचा लिया गया। कामना को ढांग निगल गई। बाद में मिट्टी हटाकर बाहर निकाला। वह मरी निकली। ढांग गिरने की खबर पर तमाम लोग मौके पर दौड़े। कामना को कोई नहीं बचा पाया। कामना की मौत पर परिवार में कोहराम मच गया। घायलों को परिवार वाले इलाज को ले गए। कामना का शव परिवार वाले घर ले आए। हादसे की सूचना पर कोतवाल शक्ति सिंह के साथ फोर्स मौके पर पहुंची। शव का पंचनामा भरकर परिजनों को साैंप दिया गया। हादसे के बाद शाहबाद के एसडीएम रामसेवक द्विवेदी और तहसीलदार राजेश कुमार नेमौके का निरीक्षण किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X