विज्ञापन

नकली निकला अस्पताल का इंजेक्शन

Rampur Updated Wed, 30 May 2012 12:00 PM IST
रामपुर। सरकारी अस्पताल में मिलने वाली दवाओं पर भरोसा करने वालों के लिए अच्छी खबर नहीं है। अस्पतालों में ताकत के लिए लगाया जाने वाला इंजेक्शन भी नकली निकला। उसमें क ाले रंग के कण पाए गए हैं जो कि सेहत बनाने के बजाए खतरा पैदा कर सकते थे। मामले का खुलासा होने पर अब इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सरकारी अस्पतालों में दवाओं की सप्लाई के नाम पर खूब धांधली की जा रही है। यहां मरीजों को दी जाने वाली दवा सेहत बनाने के बजाए बिगाड़ रही है। दो साल पहले मुख्य चिकित्साधिकारी के औषधि भंडार से सरकारी दवाओं के सैंपल भरे गए थे। इस दौरान मल्टीविटामिन वीटारोन इंजेक्शन का सैंपल भरा गया था, जिसे जांच के लिए लैब भेजा गया था। लैब से दो साल बाद जांच रिपोर्ट भेजी गई है। यह रिपोर्ट मंगलवार को आ गई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक मल्टीविटामिन वीटारोन इंजेक्शन में काले रंग के कण पाए गए हैं जो कि इंजेक्शन लगने के बाद शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इंजेक्शन का सैंपल फेल होने के बाद औषधि विभाग की टीम ने इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी को नोटिस जारी करते हुए उससे जवाब तलब किया है। औषधि निरीक्षक अरविंद गुप्ता के मुताबिक इंजेक्शन का सैंपल फेल हो गया है। इस मामले में औषधि विभाग भंडार से भी पूछताछ की गई थी।

Recommended

कब होंगे सपने पूरे और कब किस्मत को लेकर रहेगा मलाल, सितारे बताएंगे पूरे साल का हाल, जानें वार्षिक राशिफल जाने-माने ज्योतिषी से
ज्योतिष समाधान

कब होंगे सपने पूरे और कब किस्मत को लेकर रहेगा मलाल, सितारे बताएंगे पूरे साल का हाल, जानें वार्षिक राशिफल जाने-माने ज्योतिषी से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

क्यो 'द लास्ट पोस्ट' की धुन पर ही दी जाती है शहीदों को श्रद्धांजलि

देश की सेवा में जान देने वाले जांबाज जवानों की शहादत पर बजने वाली धुन तो आपने सुनी ही होगी! यह संगीत खास तौर से सेना और उनसे जुड़े लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, जो युद्ध में शहीद हुए।

21 फरवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree