विज्ञापन

अब नहीं होगी लावारिस शवों की दुर्गति

Rampur Updated Sun, 27 May 2012 12:00 PM IST
रामपुर। लावारिस हालत में मिलने वाली लाशों की दुर्गति अब नहीं हो सकेगी। लावारिस शवों को सम्मान के साथ ताबूत में रखकर पोस्टमार्टम हाउस तक ले जाया जाएगा और फिर उन्हें अंतिम संस्कार होने तक इसी ताबूत में रखा जाएगा। इसके लिए अब शासन की ओर से अब हर जिले को ताबूत मुहैया कराए जाएंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
लावारिस शवों को लेकर पुलिस की मानवीयता लगातार कम होती जा रही है। लावारिस शवों की दुर्गति लगातार होती है, जिससे आए दिन इसको लेकर पुलिस को फजीहत तक झेलनी पड़ती है। हालत यह होती है कि लावारिस शवों को टैंपो या फिर रिक्शे में डालकर पोस्टमार्टम हाउस में रख दिया जाता है। पोस्टमार्टम के बाद भी लाश शिनाख्त के लिए ऐसे ही खराब होती रहती है। लावारिस शवों की दुर्गति रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने अब एक नई पहल की है। प्रदेश के डीजीपी एससी शर्मा की ओर से प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों को आदेश जारी करते हुए कहा है कि अब लावारिस शवों की दुर्गति नहीं होने दी जाए। साफ किया गया है कि लावारिस शवों की दुर्गति रोकने के लिए अब पुलिस मुख्यालय क ी ओर से ताबूत भेजा जा रहे हैं। जल्द ही ताबूत हर मुख्यालयों को भेज दिए जाएंगे। रामपुर के लिए भी करीब दस ताबूत मुहैया कराए जाएंगे। प्रदेश भर में करीब एक हजार ताबूत को तैयार करने के लिए आर्डर पुलिस विभाग की ओर से दिया जा चुका है। डीजीपी के इस आदेश में साफ किया गया है कि ताबूतों की संख्या का आवंटन जिले के आकार के मुताबिक किया जाएगा। आदेश में साफ किया गया है कि ताबूत आने के बाद लावारिस शवों को इन्हीं ताबूत में रखवाकर पोस्टमार्टम हाउस तक पहुंचवाया जाए साथ ही पोस्टमार्टम के बाद लाश का दफन होने तक इसे इसी ताबूत में रखे देना चाहिए।

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें मात्र ₹1100 में
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें मात्र ₹1100 में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

यात्रियों से भरी बस की टक्कर में 3 लोगों की गई जान, 15 घायल

महाराष्ट्र के पुणे में बड़ा सड़क हादसा सामने आया है, यहां हादसे में 3 लोगों की जान चली गई है, जबकि 15 लोग बुरी तरह से घायल हो गए हैं।

18 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree