सपाइयों का वन चेक पोस्ट पर हंगामा

Rampur Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

स्वार। वन चेक पोस्ट पर रात में सपा नेता समेत समर्थकाें ने धावा बोलकर हंगामा काटा। सूचना पर पहुंचे पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी खामोश रहे। वन कर्मियों ने वाहनों से वसूली की नगदी ले जाने समेत कार्य में बाधा डालने की तहरीर दी है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नही की है।
विज्ञापन

उत्तराखंड सीमा के निकट स्वार बाजपुर मार्ग पर शिकारपुर गांव के सामने वन चेक पोस्ट पर तैनात वन कर्मी भारी वाहनों से अभिवहन शुल्क वसूली कर अभिवहन पास जारी कर रहे थे। इस बीच मंगलवार देर रात रामपुर शहर निवासी सपा नेता समर्थकाें एवं मानपुर निवासी स्टोन क्रेशर स्वामी समेत लग्जरी कार से वन चेक पोस्ट पर पहुंचे। आरोप है कि सपा नेता एवं समर्थकाेें ने धमका कर वन कर्मियों को चौकी से बाहर निकालकर गोलक में रखी नकदी कब्जे में लेकर 22 हजार 265 की धनराशि गायब कर दी। इसके हंगामा करने लगे। सूचना पर पुलिस एवं नायब तहसीलदार मौके पर पहुंच गए। सपाइयों के तेवर देखकर अफसर भी तमाशबीन रहे। आरोप है कि बाद में सपा नेता एवं समर्थकों ने चेक पोस्ट पर अभिवहन शुल्क वसूली को रोके ट्रकों को बिना शुल्क अदा किए निकालवा दिया। सुबह वन कर्मियोें ने सपा नेता समेत समर्थकों के खिलाफ तहरीर दी है। एसडीएम सहित आला अधिकारियाें को अवगत कराया है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। वन रेंजर दिलीप श्रीवास्तव का कहना है कि सपा नेता ने गोलक से नगदी गायब कर सैकड़ों ट्रकाेें को बिना शुल्क रवाना कर राजस्व क्षति पहुंचाई है। शिकायत डीएम एसपी सहित डीएफओ से की गई है। कोतवाल डीसी शर्मा का कहना है कि तहरीर की जांच की जा रही है। उधर सपा नेता का कहना है कि बाजपुर जाते समय ओवरलोड वाहनोें से वन एवं पुलिस कर्मी अवैध वसूली कर रहे थे, हस्तक्षेप करने पर वन एवं पुलिस कर्मी अभद्रता करने लगे। नायब तहसीलदार ने मौके से काटी गई रसीदों से अधिक धनराशि पाई। मिलान करने पर वन कर्मी संतोषजनक जवाब नहंी दे पाए। बौखलाकर वन कर्मियों ने आरोप लगाकर साजिश रची है। नगर विकास मंत्री को भी अवगत कराया गया है। नायब तहसीलदार सूरज कुमार यादव ने बताया कि चेक पोस्ट से 1 लाख 38 हजार 865 रुपये अभिवहन राशि के सापेक्ष 2 लाख 10 हजार 970 रुपये अधिक मिलने पर वन कर्मियों की भूमिका संदिग्ध है। मामले की रिपोर्ट आला अधिकारियों को भेज दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us