आजम के समझाने पर माने उलमा

Rampur Updated Tue, 22 May 2012 12:00 PM IST
रामपुर। उलमा की पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को काले झंडे दिखाने की धमकी को नगर विकास मंत्री मोहम्मद आजम खां ने गंभीरता से लिया। उन्होंने उलमा को काले झंडे न दिखाने के लिए समझाया। उनके समझाने पर उलमा मान गए और काले झंडे दिखाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया। उलमा डीएम से भी मिले और ज्ञापन सौंपा। उनका कहना था कि मोदी में उर्दू की भी पढ़ाई शुरू कराई जाए।
जमीयत उलमा-ए- हिंद के कारकुन और मदरसा फैजे हिदायत केप्रबंध तंत्र ने कल डीएम को ज्ञापन देकर पूर्व राष्ट्रपति के मोदी स्कूल में कार्यक्रम का विरोध किया था। उलमा ने धमकी दी थी कि वे पूर्व राष्ट्रपति को काले झंडे दिखाएंगे। उलमा की धमकी को कैबिनेट मंत्री मुहम्मद आजम ने गंभीरता से लिया। उन्होंने समझाया कि डा. कलाम जैसी शख्सियत को काले झंडे दिखाना उनकी शान में गुस्ताखी होगी। लिहाजा आजम खां के समझाने पर उलमा ने काले झंडे दिखाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया। उलमा सोमवार को दोपहर डीएम से मिले और ज्ञापन सौंपा। उनका कहना था कि वह आजम खां के समझाने पर मान गए। लेकिन, मोदी स्कूल से कुछ मुतालबा है उसे पूरा कराया जाए। ज्ञापन में जुमे के दिन दोहपर एक बजे छुट्टी करने, स्कूल में उर्दू की भी पढ़ाई शुरू कराने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में जमीयत के जिला सदर मौलाना असलम जावेद कासमी, फैजे हिदायत के मोहतमिम शाहिद अली खां, मुफ्ती हबीबुर्रहमान, यामीन, कारी जमील अहमद, कारी शकील, मौलवी फारूख, मौलवी साजिद शामिल थे।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: SHO के वॉट्सएप चैट ने उड़ाई अधिकारियों की नींद, ADG ने कह दी बड़ी बात

उत्तर प्रदेश पुलिस के उच्च अधिकारियों की नींद उस वक्त उड़ गई, जब बुलंदशहर के डिबाई पुलिस स्टेशन के एसएचओ परशुराम का वॉट्सऐप चैट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

18 जुलाई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen