बच्चों पर खूब चली मिसाइल मैन की स्माइल

Rampur Updated Tue, 22 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

रामपुर। मिसाइल मैन डा. एपीजे अब्दुल कलाम की स्माइल का जादू बच्चों से लेकर उनके अभिभावकों पर खूब चला। नजदीकी पाने के लिए बच्चे पसीना बहाते दिखे। कलाम ने बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए किसी की पीठ थपथपाई तो किसी से हाथ मिलाया। आटोग्राफ लेने वाले बच्चों को भी निराश नहीं किया। मिसाइल मैन को अपने करीब पाकर बच्चे भी खुशी से फूले नहीं समा रहे थे।
विज्ञापन

रामपुर के बच्चों के लिए यह पहला मौका था जब हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि दुनिया की अजीमुश्शान शख्सियत भारत रत्न डा. एपीजे कलाम जैसी हस्ती रामपुर में थी। बच्चों पर कलाम का जादू खूब चला। कलाम दयावती मोदी अकादमी में करीब 45 मिनट तक रहे। इस दौरान बच्चों पर उन्होंने खूब इंप्रेशन छोड़ा। प्रदर्शनी से लेकर बच्चों से सीधे रूबरू होने तक उनका जादू खूब चला। बच्चों से सीधे सवाल हों या फिर बच्चों के सवालों के जवाब मुस्करा कर देने का अंदाज हो। सभी बच्चों को खूब भाया। एक दफा तो वह सख्त टीचर के लहजे में भी आ गए। नोएडा पब्लिक स्कूल क ा दिव्यांश जब सवाल नहीं पूछ पाया तो वह उदास हुआ। लोगों की रिक्वएस्ट पर उसे मंच पर बुलवा लिया गया। उसने जब कलाम के पैर छुए तो उन्होंने दिव्यांश को उठाकर उससे हाथ मिलाया। कार्यक्रम संपन्न होने के बाद जब कलाम बाहर निकलने लगे तो बच्चों ने घेर लिया। बच्चे आटोग्राफ पाना चाहते थे। इस होड़ में कई बच्चे तो भीड़ में ही छूट गए। आटोग्राफ पाने के बाद कलाम ने बच्चों की पीठ थपथपाई साथ ही हाथ भी मिलाया। कलाम का जादू बच्चों पर इस तरह हावी हुआ कि बच्चे कार में बैठते-बैठते भी अपनी ओर से गिफ्ट देना न भूले। एक बारगी तो बच्चों ने बैरीकेडिंग तक पार कर दी। प्रदर्शनी देखने के दौरान कलाम ने बच्चों के सिर पर हाथ रखा और गुडलक कहा।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us