कलाम के संबोधन ने भरी लोगों में एनर्जी

Rampur Updated Tue, 22 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

रामपुर। मिसाइल मैन डा.एपीजे अब्दुल कलाम ने अपने संबोधन के जरिए बच्चों से लेकर बड़ों तक में एनर्जी भरने की कोशिश की। पसीने से सराबोर हो चुके बच्चे जब कलाम से रूबरू हुए तो क्या बच्चे और क्या बड़े सभी गर्मी भूलकर एक अनुशासित माहौल में उनको सुनते हुए नजर आए। भीषण गर्मी भी बच्चों और बड़ों के हौसले को कम नहीं कर सकी।
विज्ञापन

भारत रत्न डा.एपीजे अब्दुल कलाम सोमवार को रामपुर में थे। उनके इस्तकबाल के लिए दयावती मोदी अकादमी लंबे समय से तैयारियां चल रही थीं। सुबह से ही स्कूल में बच्चों का पहुंचना शुरू हो गया था। दुपहर तक काफी संख्या में बच्चे पहुंच चुके थे। तपिश और पसीना निकाल देने वाले माहौल ने पंडाल में मौजूद बच्चों और उनके अभिभावकों के पसीने छुड़ दिए। कई घंटे के इंतजार के बाद जब कलाम स्कूल कैंपस में पहुंचे तब जाकर लोगों में उत्साह जागा। कलाम ने जब मंच पर खड़े होकर अपने बोलना शुरू किया तो लोगों का उत्साह देखते ही बन रहा था। बच्चों से लेकर बड़ों तक में उत्साह देखा गया। कलाम ने सक्सेस मंत्रों के जरिए बच्चों का उत्साह बढ़ाया तो वहीं दूसरी ओर उनके कई और टिप्स देकर भी माहौल को पूरी तरह उत्साह से भर दिया। बच्चों ने सवाल दागने शुरू किए तो कलाम उनका जवाब देने लगे। तब लोग खड़े होकर बच्चों का हौसला बढ़ा रहे थे। इस दौरान पंखे, कूलर पूरी तरह बेअसर साबित हो रहे थे। मगर, भीषण गर्मी भी लोगों का उत्साह कम नहीं कर पा रही थी। कलाम की क्लास में क्या बड़े और बच्चे सब एक अनुशासित स्टूडेंट की तरह नजर आ रहे थे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us