फिर खत्म हो गए बोरे, तीस गेहूं खरीद केंद्र बंद

Rampur Updated Sun, 20 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

रामपुर। सरकारी खरीद केंद्रों पर बोरों की फिर कमी पड़ गई। तीस से ज्यादा केंद्र बंद हो गए है। पांच लाख बोरों की जो रैक आई थी उसे धमोरा में रोक दिया गया। क्योंकि यार्ड की री-माडयूलिंग हो रही है।
विज्ञापन

सरकारी गेहूं खरीद में बोरों की कमी आड़े आ रही है। डिमांड के मुताबिक एजेंसियों को बोरे नहीं मिल रहे हैं। जो बोरे आते हैं वे कुछ ही दिन में खत्म हो जाते हैं। कई एजेंसियों को तो उधार में भी बोरे लेने पड़े। कुछ दिन पहले 68 केंद्र बंद हो गए थे। बाद में एक लाख बोरे मिल जो एजेंसियों को आवंटित कर दिए गए। लेकिन सप्ताह भर में बोरों की कमी फिर पड़ गई। तीस से ज्यादा केंद्रों पर बोरे खत्म हो गए। इसलिए केंद्र बंद कर दिए गए। किसानों को अपना गेहूं केंद्रों से वापस लाना पड़ रहा है। हालांकि अब तक 90 हजार मीट्रिक टन के विपरीत करीब 55 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा जा चुका है।
डिप्टी आरएमओ जेएस तेवतिया ने बताया कि 45258 मीट्रिक टन एजेंसियों और 8637 मीट्रिक टन गेहूं कमीशन एजेंट के जरिए खरीदा जा चुका है। उन्होंने बताया कि पांच लाख बोरों की रैक मिल गई है। एजेंसियों का बोरों का आवंटन भी कर दिया है। लेकिन, रैक धमोरा में भी रोक दी गई है। क्योंकि इस वक्त रेलवे के सिग्नल व विद्युतीकरण का काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि 20 मई की शाम तक रैक आ जाएगी और दूसरे दिन कें द्रों पर बोरे पहुंच जाएंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us