जेई व ठेकेदार भूमिगत, सरेंडर की तैयारी

Rampur Updated Fri, 18 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। पनवड़िया में निर्माणाधीन नाले की दीवार गिरने के मामले में फंसे लोक निर्माण विभाग के तीन जेई और एक ठेकेदार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दबिश देनी शुरू कर दी हैं। सभी आरोपी भूमिगत हो गए हैं। इस बीच जेई ने कोर्ट में सरेंडर करने की तैयारी शुरू कर दी है।
विज्ञापन

पनवड़िया-जजेज रोड पर नैनीताल रोड पर बन रहे नाले की दीवार बुधवार को अचानक भरभराकर गिर गई थी,जिसमें दबकर दो लोगों की मौत हो गई थी साथ ही इतने घायल भी हुए थे। नाले का निर्माण लोक निर्माण विभाग की ओर से कराया जा रहा है। विभाग ने निर्माण कार्य का ठेक ा गाजियाबाद की निर्माण कंपनी को दिया है,लेकिन इस कंपनी ने किसी दूसरे ठेकेदार को काम की जिम्मेदारी दी थी। हादसे के बाद सीधे तौर पर ठेकेदार और पीडब्लूडी के अफसरों पर उंगली उठने लगी थीं। हादसे में मारे गए कल्याणपुर गांव निवासी वचन सिंह के चाचा जगत सिंह की ओर से सिविल लाइंस थाने में तहरीर दी गई,जिसमें आरोप लगाया गया है कि जेई व ठेकेदार नाले के निर्माण में लापरवाही बरत रहे थे। साथ ही घटिया सामग्री का भी इस्तेमाल कर रहे थे। उसका यह भी आरोप है कि नाले का निर्माण मानक के अनुरूप नहीं कराया जा रहा था,जिसके बाद यह हादसा हुआ और दो लोगों की मौत हो गई। जगत सिंह की तहरीर पर सिविल लाइंस थाने में जेई हरवीर सिंह, भीमसेन और पुरुषपाल के साथ ही निर्माणदायी संस्था के ठेकेदार मनमोहन शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू कर दी थी। साथ ही गिरफ्तारी के लिए दबिशें भी दी। मगर, कोई भी आरोपी पुलिस केहत्थे नहीं चढ़ा। इस बीच जेई की ओर से सरेंडर की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसको लेकर कानूनी मशविरा भी शुरू कर दिया गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us