विज्ञापन

बैंक के निशान ने पकड़वाया फर्जीवाड़ा

Rampur Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
रामपुर। चेक पर एसबीआई के निशान में फर्क नजर आने पर फर्जी होने का खुलासा हो गया। फर्जी चेक का खुलासा करने वाली मुख्य शाखा एसबीआई ने उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट भेज दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
एसबीआई की मुख्य शाखा के प्रबंधक पीके सक्सेना ने बताया कि क्षेत्र के विजया बैंक से साढ़े सत्ताइस लाख रुपये का एक चेक क्लिरियेंस केलिए आया था। यह चेक एसबीआई की शामली शाखा (जनपद प्रबुद्ध नगर) से जारी किया गया था। शक होने पर शाखा से संपर्क करने पर चेक के फर्जी होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि यह चैक मोहित एजेंसी केनाम पर जारी है। उन्होंने बताया कि चेक बेहद सफाई से बनाया गया है। हस्ताक्षर व अन्य निशान बैंक केवास्तविक चेक से मिलते हैं। उनमें अंतर करना बेहद मुश्किल हैं। बैंक के चिन्ह में भी गड़बड़ी एकदम से नजर नहीं आती है। मैनेजर ने बताया कि बैंक केस्टाफ की उच्चाधिकारियों ने सराहना की है। चेक केफर्जी होने की रिपोर्ट अफसरों को भेज दी गई है। अफसरों केनिर्देशों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Recommended

बच्चों के विकास के लिए बेहद जरूरी है देसी घी, जानें इसके फायदे
ADVERTORIAL

बच्चों के विकास के लिए बेहद जरूरी है देसी घी, जानें इसके फायदे

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

करणी सेना की कंगना को धमकी सहित देशभर की 5 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें। देखिए LIVE BULLETINS - शाम 5 बजे।

19 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree