बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

पांच दिन तीन पैसेंजर ट्रेनें नहीं आएंगी रामपुर

Rampur Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

रामपुर। एलईडी सिग्नल लगने की व्यवस्था की जांच करने आए प्रवर मंडल परिचालन प्रबंधक बरजेश धरमाणी ने पांच दिनों तक तीन पैसेंजर रेलों के रामपुर से होकर नहीं जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इन दिनों में जंक्शन पर एलईडी सिग्नल लगाने का काम पूरा हो जाएगा। सिग्नल की नई व्यवस्था में जंक्शन पर सिर्फ 31 सिग्नल लगाए जा रहे हैं।
विज्ञापन

मुरादाबाद से बरेली के बीच एलईडी सिग्नल लगने से वंचित एकमात्र स्टेशन रामपुर जंक्शन पर भी कार्य शुरू हो गया है। अब दूर से ही नजर आने वाली एलईडी सिग्नल से रेल यातायात प्रबंधन होगा। मंगलवार को सिग्नल लगाने की व्यवस्था का निरीक्षण करने आए प्रवर मंडल परिचालन प्रबंधक बरजेश धरमाणी ने बताया कि नई व्यवस्था के तहत जंक्शन पर आधुनिक किस्म के एलईडी सिग्नल लगाने का काम 16 से 20 मई तक चलेगा। उन्होंने बताया कि सिग्नल लगने का काम होने के दौरान कई रेलों का रूट डायवर्ट कर दिया गया है। लखनऊ-सहारनपुर पैसेंजर मुरादाबाद से चंदौसी होकर बरेली जाएगी व चंदौसी होकर मुरादाबाद पहुंचेगी। दिल्ली-सीतापुर पैसेंजर ट्रेन भी इसी रूट पर चलेगी। काठगोदाम-मुरादाबाद पैसेंजर ट्रेन काठगोदाम से चमरौवा केबीच ही चलेगी। रामुपर यार्ड में रेलों की अधिकतम गति 15 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था पांच दिनों के लिए ही है। 21 मई से पूर्ववत व्यवस्था लागू हो जाएगी। एलईडी सिग्नल के बारे में कहा कि खराब मौसम में भी इन सिग्नल की रोशनी काफी दूर से दिख जाती है। इस खासियत के चलते पुरानी व्यवस्था में लगे 56 सिग्नलों केस्थान पर महज 31 सिग्नल ही लगेंगे। उन्होंने कहा कि खराब मौसम में सिग्नल न दिखाई देने की वजह होने वाली रेल दुर्घटनाएं नहीं होंगी। उनके साथ असिस्टेंट ट्रैफिक मैनेजर प्लानिंग जीसी तिवारी, एओएमजी दलवीर सिंह, डिप्टी सीएसटी सक्सेना, स्टेशन अधीक्षक एसके पांडे आदि थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us