हज यात्रियों को मिलें ज्यादा सहुलियत

Rampur Updated Thu, 10 May 2012 12:00 PM IST
रामपुर। हज सब्सिडी खत्म करने के फैसले से उलमाओं को कोई हैरानी नहीं है। बल्कि, वे चाहते हैं कि हाजियों को ज्यादा से ज्यादा सहूलियत मिलनी चाहिए। उनके सामने जो परेशानियां आती हैं उन्हें दूर किया जाए। किसी भी जहाज में हज यात्री को सफर की इजाजत दी जाए।
काजी-ए-शरआ सैयद शाहिद अली रिजवी जमाली कहते हैं कि सरकार हज यात्रियों को सब्सिडी देकर मुसलमानों पर कोई अहसान नहीं करती है। बल्कि एयर इंडिया को करोड़ों का फायदा पहुंचाती है। सब्सिडी खत्म करने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। बल्कि, सरकार हज यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा सहुलियत दे। मुसलमानों का जो हक उन्हें मिलना चाहिए। क्योंकि मुल्क की आजादी में मुसलमानों ने भी कुरबानी दी। सरकार मुसलमानों को तरक्की के प्लान तैयार करे।
आल इंडिया मजलिसे अहरार के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना अजीजुन्नबी खां मजाहिरी कहते हैं सब्सिडी खत्म होने से मुसलमानों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। हज इबादत है और हज पर मुसलमान अपना पैसा खर्च करता है। एयर इंडिया की अनिवार्यता खत्म होनी चाहिए। हज का सफर किसी भी कंपनी के जहाज से किया जाए इसमें छूट मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हज के सफर के दौरान कई परेशानियां आती हैं सरकर को इस पर ध्यान देना चाहिए।
मौलाना उबैदुल्ला खां कहते हैं कि हज अहमद फरीजा है। सरकार हज यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा सहुलिया मुहैया कराए। मुसलमानों को जो हक वह उन्हें मिलना चाहिए।

Spotlight

Related Videos

देखिए सरकार ने क्यों लगाया फेसबुक-गुगल पर जुर्माना

सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में फेसबुक, गुगल और अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर 1 लाख का जुर्माना लगाया है। इस रिपोर्ट में देखिए आखिर क्यों लगा है जुर्माना।

22 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen