बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शिक्षा मित्र पत्नी संग प्रधान का सरेंडर, जेल गया

Rampur Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। धोखाधड़ी और मारपीट के मामले में वांछित प्रधान ने शिक्षामित्र पत्नी समेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कोर्ट ने दोनों की जमानत याचिका खारिज कर जेल भेज दिया। दोनों के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था।
विज्ञापन

मामला पटवाई थाना क्षेत्र के बहपुरा गांव का है। बहपुरा के पूर्व प्रधान याकूब ने कोर्ट केमाध्यम से सिविल लाइंस थाने में 27 जून 2011 को रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में ग्राम प्रधान जितेंद्र कुमार शर्मा और पत्नी रेखा शर्मा पर फर्जीवाड़े का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि बहपुरा की निवासी है। स्थाई निवास प्रमाण पत्र शाहबाद क्षेत्र के मथुरापुर खुर्द से बनवाया है। मथुरापुर खुर्द में रेखा शर्मा शिक्षा मित्र के पद पर तैनात है। उसने धमकाने का भी आरोप लगाया था। मारपीट का भी आरोप लगाया था। पुलिस ने मामले की जांच कर मारपीट के आरोप को गलत बताकर सिर्फ धोखाधड़ी के मामले की चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की। एसडीएम ने उसका शिक्षा मित्र का स्थाई प्रमाण खारिज कर दिया। इसके खिलाफ प्रधान ने हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट ने स्थानीय कोर्ट को सेम डे सुनवाई के आदेश दिए थे। आज दोनों ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष सरेंडर कर दिया। अधिवक्ता के माध्यम से कोर्ट में जमानत याचिका दायर की। जमानत याचिका पर सुनवाई कर कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद जमानत याचिका खारिज कर दी। दोनों को जेल भेजने के आदेश दिए हैं। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us