बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

चिकित्सक नहीं बीमारियां बढ़ा रहीं कदम

Rampur Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। बीमारियों ने कदम बढ़ाने शुरू किए और चिकित्सक अपने पांव खींचते नजर आ रहे हैं। चिकित्सकों की कमी पूरी करने के लिए नियुक्तियां भी हुईं, लेकिन उसमें भी चिकित्सक कम ही आए। पूरा जिला डाक्टरों की कमी से जूझ रहा है, लेकिन इस लड़खड़ाती व्यवस्था पर कोई सुधार नहीं हो पा रहा है। जिला पुरुष व महिला अस्पताल ही नहीं, पूरे जिले के स्वास्थ्य केंद्र भी इस समस्या से ग्रसित हैं, जबकि रोगी मौसम में इस कमी का दंश मरीजों को झेलना पड़ना रहा है।
विज्ञापन

जिला अस्पताल की ही बात करें तो 27 के सापेक्ष मात्र 13 चिकित्सक हैं। यानि पदों के सापेक्ष आधे से भी कम। चिकित्सा अधीक्षक से लेकर एनिस्थीसियस्ट और आई सर्जन जैसे पद पूरी तरह खाली है। महिला अस्पताल में सबसे बड़ी समस्या रेडियोलाजिस्ट की है। इस पद के रिक्त होने से जहां अल्ट्रासाउंड मशीन जाम होने लगी है तो गर्भवती महिलाओं को जिला अस्पताल और निजी अल्ट्रासाउंड सेंटरों में जाना पड़ता है। महिला चिकित्सक भी मात्र तीन हैं और एक एनिस्थीसियस्ट है। जिले की स्वास्थ्य केंद्रों की भी हालत कुछ इसी तरह है। रेडियोलॉजिस्ट और एनिस्थीसियस्ट जैसे पद रिक्त है तो अन्य चिकित्सकों की भी समस्या गहरा रही है। ऐसा नहीं है कि इस समस्या के हल को प्रयास नहीं हुए हो, लेकिन किए गए प्रयास सफल नहीं हो सके। जिन चिकित्सकों की नियुक्तियां की गई थी, वह यहां आने से कतरा रहे हैं। ऐसे में मरीजों को अपनी सेहत के साथ समझौता भी करना पड़ रहा है।




जिले की सेहत पर एक नजर
जिला अस्पताल---
पद रिक्त
चिकित्सा अधीक्षक 01 01
दंत चिकित्सक 01 01
एनस्थीसियस्ट 02 02
ईएमओ 04 01
आई सर्जन 02 02
स्किंस एसटीडी 01 01
कार्डियोलॉजिस्ट 01 00
सर्जन 02 00
पैथोलॉजिस्ट 02 01
फिजीशियन 02 00
ईएनटी सर्जन 01 01
बाल रोग विशेषज्ञ 02 01
आर्थोपेडिक सर्जन 02 01
चेस्ट फिजीशियन 01 00
रेडियोलॉजिस्ट 02 01

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us