मांगों को लेकर टीचर रहे सामूहिक अवकाश

Hamirpur Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
राठ(हमीरपुर)। उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय, महाविद्यालय शिक्षक महासंघ फुपुक्टा के आवाहन पर ब्रहमानंद महाविद्यालय के टीचर 14 सूत्रीय मांगों को लेकर एक दिवसीय सामूहिक अवकाश पर रहे। टीचरों के अवकाश पर रहने से महाविद्यालय में काम ठप रहा। सारा दिन स्टूडेंट यहां वहां भटकते रहे।
गौरतलब है कि शिक्षक संघ पिछले कई सालों से लंबित मांगों शिक्षकों की आयु 62 से 65 की जाए। प्राध्यापकों के मानदेय का विनीमितीकरण किया जाए। जनवरी 2006 से दिसम्बर 2008 तक लंबित पडे एरियर का भुगतान जल्द दिलाया जाए। टीचरों के स्थानांतरण की सुविधा मुहैया कराई जाए। यूजीसी रेगूलेशन एक्ट 2010 जो अभी आधा अधूरा है उसे पूरा लागू किया जाए। पीएचडी डिग्री धारी शिक्षकों को तीन तथा एमफिल टीचरों को वेतन वृद्धि का लाभ मिले। शिक्षक संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मेजर मदन मोहन राजपूत ने बताया कि उनकी 14 सूत्रीय मांगे पिछले कई सालों से लंबित पडी हुई हैं। शासन द्वारा आज तक उनका निस्तारण नहीं किया गया है। कहा कि यदि शासन ने शिक्षकों की मांगों का शीघ्र निस्तारण नहीं किया तो डिग्री शिक्षक आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

Recommended

Spotlight

Related Videos

केरल की आर्थिक मदद को लेकर कांग्रेस ने केंद्र सरकार को घेरा, कहा ये

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र सरकार पर हमला किया। उन्होंने कहा कि बारिश और बाढ़ का कहर झेल रहे केरल को केंद्र सरकार ने सिर्फ 500 करोड़ दिए जबकि वहां करीब 19000 करोड़ का नुकसान हुआ है।

20 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree