बच्चे बोले अपहरण हुआ पर पुलिस ने नकारा

Hamirpur Updated Wed, 22 Aug 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। बदमाशों के चंगुल से छूटे बच्चे विकास ने बताया कि उनके स्कूल जाते समय चौरादेवी के पास तीन लोगों ने उन्हें पकड़कर कार में बैठा लिया और एएमबीएम विद्यालय का पता पूछने के बहाने उनके मुंह में रुमाल लगाकर बेहोश कर दिया। होश आने पर उन्हें पता लगा कि वे कारीमाटी वाले रोड पर है। बदमाश बीच में रोड किनारे दुकान में सामान लेने लगे तभी वह दोनों बोलेरो से कूदकर भाग निकले और पैदल बेतवा पुल पहुंचे। यहां पर पुलिस को पूरी कहानी बताई। पुलिस उन्हें मोटर साइकिल में बैठाकर थाने ले आई। कक्षा 4 के छात्र राजा ने बताया कि जिस वाहन से उन्हें ले गए थे उसका नंबर एमपी से शुरू है। उसे नंबर याद नही है। विकास ने बताया कि ब्राउन कलर की गाड़ी है। सीओ सदर अरविंद कुमार पांडेय ने कहा कि विकास का बैग रास्ते में गिर गया। तभी वह डर गया और स्कूल जाकर दूसरे भाई का बैग बाथरुम में छिपाने के बाद दोनो चले गए। शाम को वापस आ गए। इन बच्चों का अपहरण नहीं हुआ है। वहीं जाम लगाए भीड़ को समझाने के लिए एसडीएम ने भाजपा विधायक साध्वी निरंजन ज्योति को बुलाया। इसी बीच बच्चों के मिलने की सूचना अधिकारियों ने भीड़ को दी। अफसरों ने विधायक को बच्चों से बात कराई। तब विधायक के कहने पर जाम खोला। 

Spotlight

Related Videos

तो इस वजह से ग्रामीणों में मच गया हड़कंप

सोनभद्र के घोरावल में दो मगरमच्छ के नदी से बाहर आने से हड़कंप मच गया। ये दोनों मगरमच्छ बकहर नदी के किनारे आ गए थे।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen