बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

अब नई डीएपी खाद 300 रुपए महंगी

Hamirpur Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

धांधली रोकने को सिर्फ खाताधारक किसानों को पुराने रेट की खाद
विज्ञापन

हमीरपुर। जिले की सहकारी समितियों पर डंप डीएपी खाद के वितरण में धांधली रोकने का तरीका अधिकारियों ने निकाला है। हालत यह है कि प्रत्येक समिति पर नए व पुराने रेट की डीएपी खाद मौजूद है। इस उर्वरक में 300 रुपए का भारी अंतर है। किसानों को दी जाने वाली इस खाद में घालमेल की संभावनाएं ज्यादा है। इसी क ो देखते अधिकारियों ने पुराने रेट की खाद जिसकी कीमत 910.50 रुपए प्रति बोरी है उसे समितियों में अंश (ख) वाले खाताधारक किसानों में वितरित की जाएगी।
जिले की सहकारी समितियों में खाद की कमी नहीं है। खरीफ अभियान में किसान खेतों में खाद का उपयोग न के बराबर करते है। ऐसे में खरीफ फसल के लिए लाई गई डीएपी खाद 3894 एमटी गोदामों में रखी है। साथ 992 एमटी एनपीके खाद है। मौजूदा समय में खाद का पर्याप्त भंडारण है। समितियों में भेजी गई डीएपी खाद के दो रेट है। पुरानी खाद का रेट 910.50 रुपए है। जबकि नए रेट की खाद पर किसानों को 305 रुपए और देने होंगे। किसानों को पुराने रेट की खाद का वितरण होने के बाद 1205 रुपए प्रति बोरी खाद मिलेगी। समितियों के गोदामों पर पड़ी पुराने रेट की खाद को अगर नए रेट पर बेचकर धांधली की गई तो करीब 1 करोड़ 59 लाख रुपए किसानों को देने पड़ेंगे। इसी धांधली को भांपते हुए अधिकारियों ने तरीका ढूंढ निकाला है। 910.50 रुपए प्रति बोरी में बिक्री होने वाली खाद ऐसे किसानों में वितरित की जाएगी जो समिति में अंश (ख) के तहत खातेदार है। उप कृषि निदेशक उमेश कटियार ने बताया कि सहायक जिला प्रबंधक (सहकारिता) ने सभी समितियों के सचिवों को पत्र जारी किया है।

992 एमटी एनपीके खाद जाएगी समितियों में
हमीरपुर। खरीफ अभियान में 992 एमटी एनपीके उर्वरक जिले की 21 सहकारी समितियों में भेजी जाएगी। फिलहाल सर्वाधिक खाद गोहांड समिति पर 105 एमटी पहुंचेगी। इफ्को के प्रबंधक रघुवीर सिंह ने बताया कि एनपीके खाद महोबा में रखी है। इस खाद को 760 रुपए प्रति बोरी के हिसाब से बेची जानी है। बताया कि राठ की सहकारी समिति को 75 एमटी, कुल्हेड़ा समिति में 45 एमटी, धनौरी में 30, गोहांड में 105, सुमेरपुर में 75, मझगवां में 15 एमटी खाद भेजी जा रही है। इसी तरह पचखुरा समिति में 60 एमटी, पौथिया में 55, छानी में 60, इंगोहटा में 30, सायर में 75, मौदहा किसान सेवा में 75, धनौरी में 45, मिश्रीपुर में 25, शेखूपुर में 30, कुसमरा में 15, कुरारा में 45, पतारा में 30, धमना में 30, सरीला में 15, हेलापुर में 90 एमटी खाद अगले हफ्ते तक पहुंच जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X