बच्चों की लड़ाई में भिड़े थे पड़ोसी

Hamirpur Updated Sun, 05 Aug 2012 12:00 PM IST
मुस्करा (हमीरपुर)। थाने के अंदर हुई हत्या के मूल में राशिद और बद्दल के बच्चों के बीच हुआ झगड़ा है। कसबे में ईदगाह मोहल्ला निवासी राशिद हुसैन खुद का आटो चलाता है। जबकि पड़ोसी बद्दल (40) टेलरिंग कर परिवार का भरण पोषण करता था। दोनों पड़ोसियों के बच्चों के बीच दो अगस्त को झगड़ा हो गया। बच्चों की लड़ाई के बाद महिलाएं भी आपस में भिड़ गईं। मामले की शिकायत थाने में आने के बाद पुलिस ने गुरुवार को ही दोनों व्यक्तियों को हिरासत में ले लिया। बद्दल की पत्नी हूरबानो व बेटी हसीना ने जिलाधिकारी बी चंद्रकला को बताया कि पुलिस ने दूसरे पक्ष से 50 हजार रुपए लेकर हत्या कराई है। उन्होंने कहा कि झगड़ा होने के बावजूद पुलिस ने जानबूझकर दोनों को एक साथ एक ही स्थान पर कैद कर रखा गया।
महिला ने रो रोकर बताया कि वह सुबह व शाम के वक्त खाना देने थाने आती रही लेकिन पुलिस वाले उसे भगा देते थे। उसे पति से मिलने नहीं दिया गया। बताया कि शनिवार सुबह करीब छह बजे मस्जिद में चरचा हुई कि थाने में मर्डर हो गया है। इस पर उसका देवर मुन्नी सौदागर थाने पहुंचा। लेकिन पुलिस ने किसी प्रकार की सूचना दिए बगैर उसे भगा दिया। आरोप लगाया कि पुलिस ने रात में ही शव को गायब कर दिया है। यह खबर जैसे ही कसबे में फैली तो लोगों में आक्रोश उमड़ पड़ा। बवाल की आशंका को देखते हुए जिले के सभी थानों का पुलिस फोर्स बुला लिया गया। इसके बावजूद सैकड़ों लोग थाना गेट पर एकत्र हो गए और परिजन शव की मांग करने लगे। लेकिन पुलिस द्वारा सही जानकारी न देने पर मौजूद हजारों की भीड़ ने पथराव शुरु कर दिया। पहले से मुस्तैद पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए लाठी चार्ज किया। साथ ही हवाई फायरिंग की। इस पर भी मामला न संभलते देख पुलिस ने आंसूगैस के गोले दागे। पुलिस की इस कार्रवाई से लोगों का गुस्सा और भड़क गया। लोगों ने इस बीच रुक रुककर कई बार पथराव किया। आंसूगैस के गोले से कसबा निवासी शमीम (22) पुत्र सलीम घायल हो गया। शमीम को इलाज के लिए कसबे की सीएचसी में भर्ती कराया गया। वहीं भीड़ के पथराव से मीडिया कर्मी व सरीला सीओ शील कुमार सुमेरपुर थानाध्यक्ष जमीरुल हसन, जलालपुर के सिपाही महेंद्र सिंह व गुरुदयाल तथा जरिया थाने के सिपाही वासुदेव चुटहिल हो गए।
थाने पर मौजूद पुलिस अधीक्षक सैय्यद वसीम अहमद ने मीडिया के सामने राशिद हुसैन से घटना के बारे में पूछा तो उसने मोनो ब्लाक पंप सिर पर मारकर हत्या किए जाने की बात कबूली। एसपी ने बताया कि थानाध्यक्ष की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। थानाध्यक्ष ने तहरीर में राशिद द्वारा मोनोब्लाक पंप से हत्या किए जाने की बात लिखी है। उधर थाने आई जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने कहा कि थाने के अंदर हुई हत्या पुलिस की घोर लापरवाही का नतीजा है। उन्होंने घटना के मजिस्ट्रेटी जांच मौदहा एसडीएम जेबी सिंह को सौपी है। जिलाधिकारी ने मृतक के परिजनों को रेडक्रास से त्वरित 25 हजार की आर्थिक मदद की घोषणा की है। साथ ही पारिवारिक लाभ योजना, विधवा पेंशन व बेटी को नौकरी दिलाने का भरोसा दिया है। मुख्यमंत्री राहत कोष से भी मदद दिलाए जाने का आश्वासन दिया है। जबकि पुलिस अधीक्षक सैय्यद वसीम अहमद ने थानाध्यक्ष जगदेव प्रसाद यादव को निलंबित कर विभागीय जांच सीओ मौदहा को सौंपी है।

Spotlight

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper