बेटियों की शादी की चिंता में मरा पंचायत मित्र

Hamirpur Updated Wed, 18 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ललपुरा (हमीरपुर)। ग्राम पंचायत सहुरापुर के पंचायत मित्र की आत्महत्या के मामले की जांच में खुलासा हुआ कि घर में विधवा बहन और बेटियों की शादी की वजह से पंचायत मित्र ने उठाया था कदम। जांच करने मुख्य विकास अधिकारी केएन लाल पहुंचे और उन्होंने ार्थिक तंगी जैसे कोई हालात नहीं बताए।
विज्ञापन

बीते सोमवार को सहुरापुर ग्राम पंचायत में रोजगार सेवक (पंचायत मित्र) के पद कार्यरत गांव निवासी अरविंद कुमार प्रजापति ने जहर खाकर जान दे दी। इस मामले को रोजगार सेवक संघ ने तूल दे दिया। इस घटना की जांच करने मंगलवार को सीडीओ गांव पहुंचे। उन्होंने बताया कि मृतक के पिता कालीचरन से घटना की जानकारी ली गई तो बताया कि अरविंद उससे अलग रहता था। उसके तीन पुत्रियां और दो बेटे है। जिसमें दो बेटियां शादी लायक हो गई हैं। जबकि एक वर्ष पूर्व विधवा हुई बहन भागवती की भी चिंता थी। उसे ससुराली जन ठीक से नहीं रखते है। सीडीओ के साथ गांव पहुंचे बीडीओ पीएन दीक्षित ने बताया कि पंचायत मित्र के पौथिया स्थित ओबीसी बैंक के खाते में 20 हजार रुपए जमा है। उसे 7 जुलाई को तीन माह के मानदेय की 9 हजार की चेक दी गई है, जो उसके घर में मिली।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us