नहीं चेते तो पानी के लिए होगा युद्ध

Hamirpur Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

हमीरपुर। जल ही जीवन है, यदि इसके संरक्षण के लिए कदम नहीं उठाए गए तो अगला विश्व युद्ध धन दौलत की बजाए पानी के लिए होगा। जल प्रकृति का अनुपम उपहार है। जिसके बिना जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती।
विज्ञापन

यह बात भूजल जागरूकता को लेकर चलाए जा रहे अभियान के तहत कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने कही। उन्होंने कहा कि पानी अमूल्य है। इसकी एक एक बूंद हमको संजोकर रखनी है। देखा जाता है कि समझदार लोग ही पानी बर्बाद कर रहे हैं। पानी का प्रयोग इस तरह किया जाए जैसे संचय किए हुए धन का। पृथ्वी का दो तिहाई भाग जल से घिरा है किंतु इसमें शुद्ध जल की मात्रा बहुत सीमित है। वर्तमान में पृथ्वी पर मात्र 0.3 भाग ही साफ व शुद्ध जल रह गया है। उन्होंने महात्मा गंाधी द्वारा कही गई बात को दोहराते हुए कहा कि धरती हमारी जरूरताें को पूरा करने के लिए बहुत ज्यादा है परंतु हमारे लालच के लिए नही। डीएम ने कहा कि यह अभियान प्रत्येक ब्लाक में बृहद स्तर पर कराया जाएगा। इसमें लघु सिंचाई, भूगर्भ जल, कृषि, जल निगम, भूमि संरक्षण, नेहरू युवा केंद्र, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, पंचायती राज, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड आदि विभाग प्रतिभाग करेगे। बताया कि 17 जुलाई को तहसील दिवस के आयोजन के मौके पर भूगर्भ जल गोष्ठी का आयोजन भी किया जाएगा। जबकि 18 जुलाई को सुमेरपुर व राठ, 19 को कुरारा व मौदहा, 20 को सरीला व मुस्करा, 21 को गोहांड में गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। जबकि 22 जुलाई को जनपद स्तर पर इसका समापन होगा। उन्होंने बताया कि आयोजित गोष्ठियों में रैली व प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाएगा। इसमें अच्छा कार्य करने वाले बच्चों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। इस मौके पर जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us