ग्राम रोजगार सेवक संघ ने मानदेय बढ़ाने को कहा

Hamirpur Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

हमीरपुर। आर्थिक तंगी से त्रस्त होकर मौत को गले लगाने वाले साथी की मौत पर पंचायत मित्रों ने मिलने वाले मानदेय को नकाफी बताया। ग्राम रोजगार सेवक संघ ने तीन हजार के मानदेय को बढ़ाकर 10 हजार करने की मांग की है।
विज्ञापन

मनरेगा के तहत ग्राम पंचायतों में मजदूराें का लेखाजोखा रखने के लिए पंचायत मित्र ग्राम रोजगार सेवक की नियुक्ति की गई थी। इन पंचायत मित्रों को तीन हजार रुपए का मानदेय निर्धारित किया गया। लेकिन मौजूदा महंगाई को देखते हुए यह मानदेय काफी कम है। ग्राम रोजगार सेवक संघ ने कई बार सरकार से मानदेय बढ़ाए जाने के लिए मांग कर चुका है। बीती शाम पंचायत मित्रों ने आर्थिक तंगी के चलते एक साथी अरविंद कुमार प्रजापति को गंवाने के बाद मानदेय बढ़ाने के लिए फिर से आंदोलित होते दिख रहे है। रोजगार सेवक संघ ने कहा कि जहां मजदूराें की प्रतिदिन के हिसाब से मजदूरी तो बढ़ा दी गई है। वहीं पंचायत मित्रों के मानदेय में बढ़ोत्तरी न किए जाने से आर्थिक तंगी से जूझ रहे है। संघ के जिलाध्यक्ष लोकेंद्र यादव का कहना है कि अगर मानदेय नही बढ़ाया गया तो आर्थिक तंगी के चलते और भी पंचायत मित्र आत्महत्याएं करने को मजबूर हो जाएंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us