दूसरे नाम के अभिलेख लगा ऋण से लिया ट्रैक्टर

Hamirpur Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ललपुरा (हमीरपुर)। पौथिया स्थित ओबीसी बैंक में फर्जी अभिलेख लगाकर ट्रैक्टर के लिए ऋण लिया गया और ट्रैक्टर निकाल लिया गया। जब किसान ने ऋण चुकता नहीं किया तो वसूली के लिए नोटिस जारी की गई। नोटिस जारी होने पर पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। पीड़ित की शिकायत पर हुई जांच सही पाई गई है। इस मामले में पीड़ित आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को अधिकारियों के चक्कर काट रहा है।
विज्ञापन

ओबीसी बैंक से कुछेछा गांव के मुलुवा पुत्र सुमेरा ने सन 2002 में ट्रैक्टर खरीदने के लिए 3.50 लाख रुपए का फाइनेंस कराया। इसमें भूमिहीन अपने रिश्तेदार लक्ष्मीनारायन निवासी स्वासा की फोटो लगाने के साथ उसी गांव के दूसरे लक्ष्मीनारायन पुत्र दर्शन का नाम दिखाकर फर्जी तरीके से जमानतदार बनाकर ऋण लिया गया। इस मामले में पीड़ित लक्ष्मीनारायण पुत्र दर्शन का कहना है कि उसके नाम बैंक ने नोटिस भेजा है। इसमें 6 लाख 16 हजार 461 रुपए जमा कराने को कहा है। पीड़ित ने जिलाधिकारी व एसपी को दिए प्रार्थना पत्र के बाद थानाध्यक्ष मोहम्मद शरीफ खान ने मामले की जांच की। जांच में ट्रैक्टर के ऋण में फर्जीवाड़ा निकला है। स्वासा निवासी भूमिहीन लक्ष्मीनारायन पुत्र ख्याली का फोटो चस्पाकर दूसरे लक्ष्मीनारायण पुत्र दर्शन के खेतों के अभिलेख लगाकर धोखाधड़ी की गई है। इस मामले में शाखा प्रबंधक रामकृपाल साहू का कहना है कि मामला 2002 का है। तब अवधेश कुमार वर्मा शाखा प्रबंधक रहे हैं। उन्हीं कार्यकाल में गड़बड़ी की गई है। उन्होंने कहा कि नोटिस गलत व्यक्ति के पास पहुंची थी लेकिन अब सुधार करते हुए जिस व्यक्ति का फोटो चस्पा है उसी को नोटिस दी गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us