मौत बनकर कहर ढा रहे भूमि पर रखे ट्रांसफार्मर

Hamirpur Updated Sun, 15 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

गोहांड /राठ(हमीरपुर)। पावर कारपोरेशन की लापरवाही से रहंक गांव में राजकीय नलकूप का जमीन पर रखा ट्रांसफारमर की चपेट में आने मवेशी काल के गाल में समा रहे हैं। मौत के रूप में रखे ट्रांसफारमर किसी व्यक्ति की भी जान ले सकते हैं। शनिवार को इस ट्रांसफार्मर की चपेट में आई तीन भैंसों की करंट लगने से मौत हो गई। इस घटना से ग्रामीणों में आक्रोश है। भैंस मालिक ने नलकूप आपरेटर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। जांच अधिकारी एसआई हीरालाल ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है।
विज्ञापन

गांव के राजकीय नलकूप संख्या आरजी 178 का ट्रांसफारमर जमीन में रखा है, जो लोगों की जिंदगी के लिए खतरा बना हुआ है। यह मात्र उदाहरण है। इस तरह के क्षेत्र मेें तमाम ट्रांसफार्मर जमीन पर रखे है। इन ट्रांसफार्मरों को सुरक्षित न किए जाने से आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। दोपहर को गांव निवासी गनेशी तिवारी व संतराम तिवारी की तीन भैंसे ट्रांसफारमर की चपेट में आकर करंट से झुलस गई। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीण अखिलेश तिवारी व बद्री मिश्रा ने बताया कि नलकूप चालक रामकुमार मिश्रा इटैलिया निवासी नलकूप पर कभी नहीं आता है। उसकी जगह प्राइवेट युवक इसे चलाता है। पशु मालिको ने विद्युत विभाग के खिलाफ चिकासी थाने में तहरीर दी है। सूचना पर पशु चिकित्सक डा.इंद्रपाल सिंह ने मौके पर जाकर मृत भैंसो का निरीक्षण किया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us