बाढ़ सुरक्षा के लिए मोटर बोट का इंतजाम नहीं

Hamirpur Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

हमीरपुर। नदियों से घिरे मुख्यालय में बाढ़ सुरक्षा के लिए मोटर बोट का अभाव है। प्रशासन सिर्फ निषादों की निजी नावों के भरोसे सुरक्षा का हवाला दे रहा है। मोटर बोट की उपलब्धता के लिए प्रशासन कई वर्षों से प्रयासरत है, लेकिन दैवी आपदा से खरीदी जाने वाली इन मोटर बोट के लिए बजट का अभाव है। मोटर बोट के लिए लोनिवि (यांत्रिक) ने 17.62 लाख रुपए मांगे हैं।
विज्ञापन

जिले में प्रशासन के अधीन एक भी मोटर बोट नहीं है। इस मामले में 29 सितंबर 2008 को शासन के अनुसचिव आरएन द्विवेदी से मोटर बोट खरीदे जाने को कहा, लेकिन बजट के अभाव में यह पूरा नहीं हो सका है। 25 जून 2010 को प्रशासन ने दो मोटर बोट मंगाए जाने की आवश्यकता जताई तब लोनिवि की यांत्रिक शाखा ने निर्माता कंपनी से कोटेशन लिया। उस समय इन मोटर बोट की कीमत 12.98 लाख रुपए थी। तबसे मोटर बोट क्रय किए जाने के लिए लोनिवि को बजट नहीं मिल सका है। लोनिवि ने इस मामले में प्रशासनिक अधिकारियों को पत्र भेजा है। कहा कि 10 से 12 व्यक्तियों की क्षमता की फाइवर ग्लास रेन फोस्टर्ड प्लास्टिक टेक्नो कामर्शियल मोटर बोट के मूल्य में वृद्धि हो गई है। अधिशाषी अभियंता झांसी ने इस मामले में पुन: प्रस्ताव भेजा है। शासन को 17.62 लाख की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति तथा धनावंटन पुन: भेजने की बात कही है।
गौरतलब हो कि जिले में 21 सरकारी नाव थी। मौजूदा समय में सभी खराब हो चुकी हैं। फाइबर ग्लास की दो मोटर बोट वर्ष 1984 में शासन ने उपलब्ध कराई थी। वर्तमान में यह जीर्णशीर्ण हालत में हैं। लोनिवि इन मोटर बोट को 24 फरवरी 99 में ही निष्प्रयोज्य बता चुका है।
जिले में नावों की स्थित पर एक नजर

तहसील सरकारी नाव व्यक्तिगत नाव
छोटी मझोली बड़ी
हमीरपुर 10 खराब 79 8 12
मौदहा 6 खराब 8 0 12
राठ 5 खराब 11 0 0
सरीला - 01 11 01



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us