विज्ञापन

शब-ए-बरात के लिए कब्रिस्तानों को चमकाया

Hamirpur Updated Thu, 05 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
हमीरपुर। शब-ए-बरात के लिए कब्रिस्तानों की साफ सफाई की गई है। कल रात को लोग कब्रिस्तानों में जाकर बुजुर्गों की कब्रों पर फातेहा पढ़ेंगे। इस दौरान कब्रिस्तानों में रोशनी का भी इंतजाम भी किया जाएगा।
विज्ञापन
शब-ए-बरात पर एक साल का हिसाब किताब लगाया जाता है। इसलिए लोग कब्रों पर जाकर फातेहा पढ़कर अपने मरहूम बुुजुर्गों और रिश्तेदारों की मगफिरत के लिए दुआ मांगते हैं।
शब-ए-बरात इस्लामी हिजरी के लिए शाबान महीने की चौदहवीं तारीख को होती है। इसके बाद पवित्र रमजान माह की आमद होती है। मुस्लिमों के घरों में कुरानख्वानी, फातेहा के अलावा हलवा भी बनाया जाता है। इससे हर इंसान को अपनी मौत और मौत के बाद के अनन्त सुखद जीवन को हासिल करने के लिए नेक अमल करने की प्रेरणा मिलती है और अल्लाह से अपने गुनाहों को माफ करवाने का एक अवसर भी हासिल होता है। इसलिए इंसान को अल्लाह से अपने गुनाहों को माफ करवाने के लिए तौबा करते रहना चाहिए। ताकि उसकी जिंदंगी और आखिरत (जीवन व अंत) दोनों सुखद हो।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us