विज्ञापन

मजदूरी को लेकर भटक रहे मजदूर

Hamirpur Updated Thu, 05 Jul 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। कुरारा विकासखंड क्षेत्र के शिवनी गांव के मजदूराें ने दो माह की मजदूरी न दिए जाने का आरोप लोनिवि के मेट व एक अन्य व्यक्ति पर लगाया है। मजदूरो का कहना है कि उन्होंने दिसंबर व जनवरी में मनकी रोड़ में 8 किमी का काम मनरेगा के तहत किया है। मजदूरो ने विभाग के अपर जिलाअधिकारी को ज्ञापन देकर मजदूरी दिलाए जाने की मांग की है।
विज्ञापन
विज्ञापन
शिवनी गांव निवासी उदयभान, मीरा, रवींद्र, अंजना, कमला, ऊषा, गिरिजा, मनोज, कमलेश सहित करीब 5 दर्जन मजदूरो ने अपर जिलाधिकारी को दिए गए ज्ञापन में बताया कि उन्होंने बीते दिसंबर 2011 व जनवरी 2012 माह में करीब 60 दिनों तक कुरारा मनकी रोड़ पर 8 किमी रोड़ की पटरी भरवाई का कार्य मनरेगा योजना के तहत किया था। इस कार्य को गांव के मेट गोपीचरन व लोनिवि के मेट दयाराम ने कराया था। मजदूरो का आरोप है कि इन दोनों मेटो ने बरूवा, मंगलपुर, जगनपुर, शिवनी व सिमरा आदि गांवो के काम न करने वाले मजदूरो के नाम जॉबकार्ड भरकर मजदूरी की धनराशि निकाल ली गई है। जबकि उन्हें मजदूरी देने के लिए बराबर चक्कर कटवाए जा रहे है। मजदूरो का कहना है कि अगर समय से मजदूरी नही मिलती तो उनके सामने फांकाकसी की नौबत आ सकती है। मजदूरों ने विभाग के अपर जिला अधिकारी से शीघ्र मजदूरी दिलाए जाने की मांग की है। साथ ही मेटो के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

Recommended

समस्त भौतिक सुखों की प्राप्ति हेतु शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा
ज्योतिष समाधान

समस्त भौतिक सुखों की प्राप्ति हेतु शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

चीन सीमा पर हिमस्खलन में दबे सेना के 5 जवान, एक शहीद

हिमाचल प्रदेश से एक बुरी खबर सामने आ रही है। यहां भारत-चीन सीमा से सटे दुर्गम इलाके नमज्ञा में गश्त पर निकले सेना और आईटीबीपी के जवानों पर बर्फीले तूफान की चपेट में आ गए हैं, जिस वजह से एक जवान शहीद हो गया है और 5 बर्फ में दब गए हैं।

21 फरवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree