विज्ञापन
विज्ञापन

गहरौली में नलकूप लगाने की तैयारी

Hamirpur Updated Mon, 02 Jul 2012 12:00 PM IST
गहरौली (हमीरपुर)। जलसंस्थान ने गांव में पेयजल समस्या को लेकर जहां अपने हाथ खड़े कर लिए है। वहीं स्थायी समाधान के लिए एकल ग्रामीण पेयजल योजना निर्माण कराने का प्रस्ताव संस्थान एवं जलनिगम के महाप्रबंधक को पत्र लिखा है। उधर महाप्रबंधक जलनिगम ने हमीरपुर के जलनिगम के अधिशासी अभियंता को शीघ्र ही स्टीमेट बनाने के निर्देश दिए है।
विज्ञापन
विज्ञापन
गौरतलब है कि गहरौली गांव में विगत कई वर्षों से ऊंचाई क्षेत्र की दो तिहाई आबादी को पानी नसीब नही हो रहा है। इसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा समय समय पर संस्थान के अधिकारियों से की जाती रही है। इन्हीं शिकायतों के मद्देनजर जलसंस्थान के अधिशाषी अभियंता ने गहरौली गांव को पहाड़ी भिटारी सामूहिक पेयजल योजना से अलग करते हुए गांव में ही एकल ग्रामीण पेयजल योजना बनाने के प्रस्ताव के लिए जलनिगम के महाप्रबंधक को पत्र लिखकर प्रस्ताव भेजा था। अधिशाषी अभियंता के इस पत्र पर जल निगम के महाप्रबंधक ने जलनिगम अधिशाषी अभिंयता को इस योजना का स्टीमेट बनाने के निर्देश दिए। जिससे आगे की कार्रवाई संभव हो सके।
टोटीं न होने से पानी की बर्बादी
गहरौली। गांव के निचले एरिया के नलो में टोटियां न लगाए जाने से पानी बर्बाद होता रहता है। गांव में निचले एरिया में लगभग 200 कनेक्शन धारक है। जिनमें अधिकांश कनेक्शन धारकों के यहां नलो की टोटियां नहीं लगी है। जिससे पानी बर्बाद होता रहता है और ऊंचाई वाले स्थानों को पानी नही पहुंच पाता है।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

20 अप्रैल के दिन की चुनावी हलचल का पूरा लेखाजोखा

20 अप्रैल का दिन चुनावी हलचलों से भरा रहा। एक तरफ जहां सपा-बसपा गठबंधन के लिए मायावती और अखिलेश यादव ने रामपुर और फिरोजाबाद में रैलियों को संबोधित किया, तो वहीं राहुल गांधी बिहार के सुपौल में नजर आए।

20 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election