विज्ञापन

ब्रह्मज्ञान के बगैर जीवन यापन पशु के सामान

Hamirpur Updated Mon, 02 Jul 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। चौरासी लाख योनियों में मानव को ही सर्वश्रेष्ठ योनी में गिना गया है। ज्ञान प्राप्त करने के बावजूद ब्रहृम ज्ञान के बगैर जीवन यापन करता तो पशु समान माना जाता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
यह बात रमेड़ी स्थित संत निरकंारी सत्संग भवन में हुए सत्संग में महात्मा सुशील कुमार ने कही। उन्होंने कहा कि जिसको भी ब्रहृम ज्ञान की दिशा मिल गई है और उसने अपने आप को सद्गुरु के चरणों में समर्पित कर दिया है तो वह आत्म कल्याण के साथ-साथ औरों का भी कल्याण कर पाता है। उन्होंने कहा कि ब्रहृम ज्ञान को लेकर घर में ही नही बैठना चाहिए उसे हमेशा ताजा रखना चाहिए। ताजा रखने के लिए सत्संग जरूरी है। क्योंकि सत्संग करने से ज्ञानमार्ग में चलने का अभ्यास होता है और परम पिता परमात्मा से जुड़े रहने का एहसास होता रहता है। मानव जाति को संदेश देते हुए कहा कि भौतिकता की ओर इंसान को ज्यादा नही भागना चाहिए। क्योंकि भौतिकता और इच्छाओं का कोई अंत नहीं है। इसमें लिप्त होने से इंसान को दुखो का बोझ ढोना पड़ता है। भौतिकता में लिप्त होने से सुखशांति तो क्षणिक मात्र होती है। बदले में मनुष्य दया, प्रेम, करुणा और इंसानियत खो बैठता है और अंत में उसे न माया साथ देती है, न तो दुनिया के लोग। इस अवसर पर दिनेश कुमार, गयादीन, सरिता गुप्ता, राधागुप्ता, पिंकी, विजयलक्ष्मी, रामधार वर्मा, होरीलाल, अरविंद कुुमार तिवारी, देशराज रचनाकर, गोविंद राम द्विवेदी, उर्मिला देवी आदि महात्माओं ने भी अपने गीत व विचार रखे। संचालन जगदीश शंकर निरंकारी ने किया।

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

बसपा विधायक की कमलनाथ सरकार को चेतावनी, सरकार बचाने के लिए पूरा करो वादा

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के सामने मुश्किल खड़ी हो गई है। एमपी में पथरिया से बसपा विधायक रमाबाई अहिरवार ने कमलनाथ सरकार को चेतावनी दी है।

23 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree