अध्यक्ष के 135 प्रत्याशियों का भाग्य मतपेटियों में बंद

Hamirpur Updated Mon, 25 Jun 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। निकाय चुनाव में मतदान के लिए लोगों ने सुबह वोट डालने में खासी तेजी दिखाई। लेकिन दोपहर में कड़ी धूप व लू के थपेड़ों के चलते मतदाता ठिठक गए। धूप ढलते ही एक बार फिर मतदाता वोट डालने निकल पड़े। कुरारा के वार्ड 6 में प्रशासन की चूक से करीब दो घंटे तक मतदान प्रभावित रहा। प्रशासनिक अधिकारियों के प्रयास के बाद इस केंद्र का मतदान शुरू हो सका। मतदाताओं ने अध्यक्ष पद के 135 प्रत्याशियों क ा भाग्य मतपेटियाें बंद कर दिया वहीं चुनाव लड़ रहे 750 सदस्यों के किस्मत भी बंद हो गई। दोपहर के समय बूथों पर सन्नाटा परस जाने का मतदान कर्मियों ने भी लाभ उठाया और छपकी मारी।
रविवार को जिले की सातों निकायों के लिए सुबह साढ़े छह बजे से मतदान शुरू हुआ। दोपहर में मतदान का प्रतिशत कमजोर रहा। दोपहर ढलते ही एक बार मतदाता फिर दिखने लगे और बूथों पर रौनक लौट आई। हालांकि बूथों पर शाम के समय मतदाताओं को लाइन नहीं लगानी पड़ी। हमीरपुर नगर पालिका में अध्यक्ष पद के 19 प्रत्याशियों के लिए मतदान हुआ। साथ ही 25 वार्डों में 162 सदस्यों के लिए भी वोट डाले गए। मौदहा में अध्यक्ष पद के 23 प्रत्याशी व 156 वार्ड सदस्यों, राठ में अध्यक्ष के 25 व वार्ड के 161 सदस्यों के लिए मतदान हुआ। नगर पंचायत कुरारा में अध्यक्ष पद के 13 व सदस्य पद के 64, सुमेरपुर में अध्यक्ष पद के 22 व सदस्य पद के 113, गोहांड में अध्यक्ष के 18 व वार्ड सदस्य 37, सरीला में अध्यक्ष पद के 15 व 57 सदस्य पद के प्रत्याशियों के लिए वोट डाले गए। मतदान के लिए 77 मतदान केंद्रों में 231 बूथ बनाए गए। वहीं 924 कार्मिकों ने मतदान कराया। कुरारा नगर पंचायत के वार्ड नंबर छह अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित सीट पर चुनाव लड़ रही प्रत्याशी तुलसा व भागवती के चुनाव निशान बदल जाने से करीब दो घंटे तक मतदान प्रभावित रहा। प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर उन्हें समझा बुझाकर मतदान शुरू कराया। प्रत्याशी तुलसा का कहना था कि उसे आवंटन के समय चुनाव चिन्ह छाता दिया था लेकिन मतपत्र में आम छपकर आया है। जबकि भागवती का कहना था कि उन्हें आम चिन्ह दिया गया था। लेकिन प्रशासन की लापरवाही के चलते छाता चुनाव चिन्ह कर दिया गया है। वह इसकी शिकायत निर्वाचन आयोग करेंगी।

Recommended

Spotlight

Related Videos

...जब श्मशान में खड़े मोदी को अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था फोन

अटल बिहारी वाजपेयी अब दुनिया में नहीं रहे। पीएम मोदी अक्सर अपने और अटल बिहारी वाजपेयी के रिश्तों की छल्कियां अपने भाषणों में दिखाते हैं।

17 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree