मेहंदी उतरी नहीं ससुराल से अर्थी उठ गई

Hamirpur Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
राठ(हमीरपुर)। बेटी के हाथों की मेहंदी भी अभी चटख थी। बड़े-बड़े सपने संजोकर वह अपने बाबुल का घर छोड़कर पिया के घर आई थी। उसे क्या पता था कि शादी के महीने भर के भीतर ही ससुराल से अर्थी उठेगी। ये कहानी किसी फिल्म की नहीं है बल्कि हकीकत है। जलालपुर थाने के हरसुंडी गांव के एक पिता के आंसू ये पूरी कहानी बयां कर रहे हैं। लड़की के पिता का आरोप है कि दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर शादी के एक माह के भीतर उसके बेटी को ससुरालवालों ने मार डाला। लड़की मौत पर परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। अभी तक पुलिस ने कोेई कार्यवाही नहीं की थी।
जलालपुर थाने के हरसुंडी गांव के सुर्जन लोधी ने बताया कि 26 मई को उसने पुत्री रिंकी (18) की शादी लोधी समाज केे सम्मेलन में मझगवा थाने के खिरिया गांव के सुंदर लाल के पुत्र असवेंद्र से की थी। उसका दावा है कि उसने शादी में 50 हजार नकद व सोने चांदी के जेबर दिए थे। आरोप है कि ससुराल वाले एक मोटर साइकिल औैर पचास हजार रुपए की मांग कर रहे थे। बीते पांच दिन पहले ससुर और जेठ उसकी पुत्री की दूसरी बार विदा कराकर ले गए। इसके बाद ससुराली जनों ने उसकी पुत्री को बड़ी ही बेरहमी से पीटकर उसकी हत्या कर दी। नवविवाहिता के शरीर के कई स्थानों पर मारपीट के निशान हैं। बेटी की मौत पर मां रो-रोकर बेसुध हो गई थी। अस्पताल प्रशासन ने मामले की सूचना पुलिस को भेज दी है।

Spotlight

Related Videos

गोरखपुर टेरर फंडिंग नेटवर्क का मास्टरमाइंड गिरफ्तार समेत सुबह की पांच बड़ी खबरें

आतंकियों के लिए NSG कमांडो बनेंगे काल और गोरखपुर टेरर फंडिंग नेटवर्क का मास्टरमाइंड गिरफ्तार समेत सुबह की पांच बड़ी खबरें।

22 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen