विज्ञापन

गुरु जी नहीं है तो कैसे होगी पढ़ाई

Hamirpur Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
हमीरपुर। राजकीय इंटर कालेजों में 30 जून को आधा दर्जन शिक्षक रिटायर हो रहे हैं। इन शिक्षकों के रिटायर होने से कालेज में शिक्षकों की और कमी हो जाएगी। नए सत्र में भौतिक, रसायन, कामर्स, हिन्दी और अंग्रेजी पढ़ाने के लिए जिले के सरकारी कालेजों में नियमित पढ़ाई कैसे होगी। ध्यान रहे पहले से ही 101 शिक्षक कम हैं।
विज्ञापन

जिले में 21 राजकीय कालेज है। इसमें हाईस्कूल स्तर के 10 कालेज है। बीते वर्ष चार नए हाईस्कूल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खोले गए लेकिन इनके पद अभी तक सृजित नहीं हुए है। इन विद्यालयों को संचालित कराने के लिए इधर उधर से एक एक शिक्षक लगाए है। इन्हीं शिक्षकों पर प्रधानाचार्य का दायित्व भी है। राजकीय बालिका इंटर कालेेज भी शिक्षकों की कमी से जूझ रहे है। हालांकि गोहांड, सुमेरपुर, सिसोलर, हमीरपुर में खाली चल रहे 30 एलटी ग्रेड की शिक्षिकाओं की नियुक्ति की गई है। 30 जून को कुरारा के जीआईसी में व्यायाम शिक्षक, हमीरपुर जीआईसी में संस्कृत व हिन्दी, सरीला के जीआईसी में हिन्दी व राठ के जीआईसी में दो शिक्षक सामान्य विषय के रिटायर हो रहे हैं।
खोले जाने वाले विद्यालयों में पद सृजित नहीं
हमीरपुर। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत जिले में 5 नए राजकीय हाईस्कूल है। हाईस्कूल के दो दो सेक्सन खोले जाएंगे। लेकिन इनके संचालन के लिए शिक्षकों के पद सृजित नहीं है। यह हाईस्कूल कुरारा ब्लाक के बेरी, सुमेरपुर में टेढ़ा, मौदहा में रीवन, मुस्करा में बजहेटा व सरीला ब्लाक के चंडौत में पूर्व से संचालित जूनियर हाईस्कूलों के परिसरों में संचालित होंगे। पद सृजित न होने पर इन विद्यालयों में निकट के राजकीय इंटर कालेजों के अध्यापकाें/अध्यापिकाओं को प्रभारी प्रधानाचार्य बनाकर काम चलाया जाएगा।
खाली पदों में शिक्षकों की तैनाती के लिए शासन को लिखा है। रिटायर होने वाले शिक्षकों व नए खोले जाने वाले पांच विद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती पर विचार चल रहा है।
ब्रजेश कुमार गुप्ता, डीआईओएस
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us