विज्ञापन

महिलाओं की स्थिति अभी भी दयनीय

Hamirpur Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
हमीरपुर। ऑल बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान में हुए कार्यक्रम में जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने कहा कि महिलाओं की स्थिति आज भी दयनीय है। परिवार में होने वाले फैसलों से महिलाओं को अलग रखा जाता है। यही कारण है कि आज भी महिलाएं घर में बंधी गाय जैसी हैं। रोजगार परक प्रशिक्षण लेने के बाद वह आत्म निर्भर बन सकती है।
विज्ञापन

कुछेछा स्थित आरसेटी में सिलाई प्रशिक्षण की शुरुआत हुई। इस मौके पर डीएम ने कहा कि प्रशिक्षार्थियों से कहा कि वह मन लगाकर सीखें और रोजगार के जरिए आत्मनिर्भर बनें। कहा कि इस समाज में पुरुष की मेहनत की कीमत तो है लेकिन महिलाओं की मेहनत का कोई मुआवजा नहीं है। इलाहाबाद बैंक के एलडीएम विमल पांड्या ने कहा कि रोजगार के लिए अगर ऋण की आवश्यकता पड़े तो वह बैंकों से ऋण दिलाने में मदद करेंगे। नाबार्ड के प्रबंधक मोहित सायंकृत ने कहा कि प्रशिक्षण के बाद समूह बनाकर कार्य किया जाए तो उसका लाभ अधिक मिल सकता है। उन्होंने प्रशिक्षार्थियों को रोजगार अपनाने संबंधी कई जानकारियां दी। राजीव गांधी परियोजना के क्षेत्रीय कार्यक्रम अधिकारी अनीता यादव, फैकेल्टी सदस्य रामनारायण प्रजापति प्रशिक्षक नेहा वर्मा सहित महिला प्रशिक्षार्थियों ने भाग लिया। संस्थान के निदेशक एनआर वर्मा ने आभार जताया।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us