विज्ञापन

बैनामा न करने पर मां-बेटों पर सितम ढाया

Hamirpur Updated Wed, 20 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
हमीरपुर। वृद्धा की खेतिहर जमीन पर गांव के दबंगों की नियत खराब है। जमीन का बैनामा न करने पर आरोपियों ने वृद्धा और उसके दोनों बेटों को जमकर पीटा। जिससे उसके दोनों बेटे मां को अकेला छोड़कर मजदूरी करने बाहर चले गए। वृद्ध मां के अकेले पड़ जाने पर इन दबंगों ने उसे गांव से बाहर निकाल दिया। जिस पर वह भूखी प्यासी दर-दर भटक रही है। यह वाकया कुरारा थाना क्षेत्र के रिठौरा गांव में हुआ। मंगलवार को वह मुख्यालय में कुरारा बस स्टैंड पर तीन दिन से भूखी प्यासी पड़ी है। कुछ लोगों ने उसकी यह हालत देख उसे डीएम के पास ले गए। उसने डीएम के सामने अपनी पूरी व्यथा बता न्याय की गुहार लगाई है। इस पर एसपी ने कुरारा एसओ व एसओजी प्रभारी को मामले की जांच कर आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
विज्ञापन
कुरारा थानाक्षेत्र के रिठौरा गांव की बेवा चुनबदिया (65) के दो पुत्र मुन्नू व गुलाब है जो मजदूरी करके परिवार का भरणपोषण कर रहे हैं। तीन दिन से भूखी प्यासी मुख्यालय में पड़ी इस वृद्धा ने जिलाधिकारी बी चंद्रकला को अपनी व्यथा बताई। एसपी सैय्यद वसीम अहमद को वृद्धा ने बताया कि उसके पास सात बीघे जमीन है। जिस पर गांव के पप्पू व उसके पिता सियाराम जबरन बैनामा कराना चाहते है। जब उसने बैनामा करने से मना कर दिया तो दोनों आरोपियों ने उसे व उसके पुत्रों को जमकर मारापीटा। वृद्धा ने बताया कि इन आरोपियों की मारपीट के भय से उसके दोनों पुत्र उसे छोड़कर बाहर चले गए। आरोपियों उसे भी गांव से बाहर कर दिया है। जिस वजह से वह तीन दिन से यहां पड़ी है। उसकी आप बीती सुनने के बाद पुलिस अधीक्षक ने एसओजी प्रभारी संजय सिंह व कुरारा थानाध्यक्ष इंद्रमणि वर्मा को बुलाकर मामले की जांच करने के साथ आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

बच्ची के साथ हुई दरिंदगी की कोशिश, घरवाले रहे चुप लेकिन शहर में मचा हल्ला

उत्तराखंड के काठगोदाम में एक स्कूल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के प्रयास का बड़ा मामला सामने आया है। जहां बच्ची के साथ हुई ज्यादती का मामला उसके घरवालों ने नहीं बल्कि निजी अस्पताल के प्रबंधक ने दर्ज कराया।

22 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree