रक्तदान कर गैरों को बनाएं अपना

Hamirpur Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। विश्व रक्तदान दिवस के मौके पर स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में युवाओं की भीड़ लगी रही। इस मौके पर अधिकारियों, कर्मचारियों व आम लोगों ने रक्तदान किया। इसके अलावा 46 लोगों ने ब्लड ग्रुप परीक्षण कराने के साथ अपने नाम रक्तदान के लिए पंजीकरण कराया।
जिला अस्पताल में में लगे शिविर में जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने कहा कि सिर्फ अपने लिए जीने वाले लोग परहित के लिए भी जीने की कला सीख ले तो बड़े पैमाने पर गरीबों, मजलूमों, बेसहारा व बेबस लोगों के दुख दर्द को बांटा जा सकता है। खून की कमी से जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे जरूरत मंदों को कुछ और समय तक हम जीने का सहारा दे सकते है। रक्तदान के लिए लोगों को जागरूक करना होगा। खून देकर हम औरों को अपना बना सकते हैं। क्योंकि खून के रिश्ते का तो हजाराें सालो से महत्व चला आ रहा है। इस मौके पर जिला युवा कल्याण अधिकारी हरीश कुमार, रेडक्रास सदस्य वसीम कुरैशी, एनवाईके सुनीता मिश्रा, रवींद्र कुमार ममना, एनएसवी दिलदार हैदर, संजय भदौरिया, दीपशिखा, गायत्री देवी व डा.राज ने रक्तदान किया। वहीं 46 लोगों ने ब्लड ग्रुप का परीक्षण कराते हुए जरूरत पड़ने पर रक्त देने का संकल्प लिया। शिविर में सीएमओ डा.एआर सिद्दीकी ने रक्तदान से होने वाले लाभों को बताया। रक्तदान करने से शरीर में मौजूद रक्त निर्माणी इकाइयां सक्रिय हो जाती है। इस मौके पर सीएमएस डा.जी सहाय, डा.आरके मिश्रा, डा.बीसी पाल, डा. विकास, नेहरू युवा केंद्र के जिला युवा समन्वयक समीम अहमद हासमी, राजेंद्र कुमार सहित अन्य कर्मचारी व युवा मौजूद रहे। रेडक्रास सचिव जलीस खान ने शिविर का संचालन किया।
रक्त देकर दूसरों को जीवन देने वाले पुरस्कृत
हमीरपुर। विश्व रक्तदान दिवस पर अंतर विभागीय बैठक लक्ष्मीबाई सभागार में हुई। इस मौके पर स्वैच्छिक रक्तदाताओं को पुरस्कृत किया गया। कलेक्ट्रेट के सभागार में अंतर विभागीय बैठक में स्वैच्छिक खून देने वाले नितिन, वसीम, पायल, गंगा, अरविंद सिंह, अजीम व रमाकांत पांडेय को जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने पुरस्कृत किया। जिलाधिकारी ने कहा कि रक्तदान एक महान कर्म है और जो दूसरों की जिंदगी बचा सकते हैं। वह आज के युग के सच्चे रोल मॉडल है। इस मौके पर जिला क्षय रोग अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

Spotlight

Related Videos

दिल्ली के शिवाजी कॉलेज में शाहिद माल्या की LIVE परफॉर्मेंस

बॉलीवुड के ब्लॉकबस्टर गानों ‘इक कुड़ी’, ‘रब्बा मैं तो मर गया ओए’ और ‘कुक्कड़’ से दिल्ली के शिवाजी कॉलेज की शाम रंगीन हो गई जब इन्हें खुद गाया शाहिद माल्या ने।

18 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen