विज्ञापन

रक्षा धर्म की करें अधर्म की नहीं

Hamirpur Updated Thu, 14 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
गोहांड (हमीरपुर)। क्षेत्र के रिहुंटा गांव में श्रीमद् भागवत कथा के पांचवें दिन साध्वी मीरा शास्त्री (सीतापुर) ने कंसवध प्रकरण पर कहा कि धर्म की रक्षा की जाती है, अधर्म की नहीं। अगर तुम अधर्म का विरोध नहीं कर सकते तो तुम अधर्म को बढ़ाने में सहभागी कहलाओगे। दुष्ट की दुष्टता जब तुम्हारे लिए असहनीय बन जाए तो ऐसी स्थिति में उस चुनौती को स्वीकार करें।
विज्ञापन

उन्होंने कहा कि राजा कंस भगवान कृष्ण के मामा थे लेकिन कंस द्वारा अधर्म व अत्याचार का रास्ता पकड़ लेने पर कृष्ण ने उसका वध करने में संकोच नहीं किया तथा धर्म व सत्य की रक्षा की। भागवत कथा के परीक्षित धर्मराज ग्राम प्रधान रिहुंटा व कार्यक्रम संयोजक इंदूप्रकाश सिंह कुईया ने बताया कि इस सिद्धदेवी के स्थान पर भागवत कथा हर वर्ष होती है। इस अवसर पर भंडारे के दिन निशुल्क शादियां की जाती है। कार्यक्रम के सहयोगी रूप सिंह, विजय बहादुर सिंह, रतन सिंह, रामकुमार पूर्व प्रधान, कालका प्रसाद है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us