50 गांवों को पानी देने की कोशिश बेकार

Hamirpur Updated Wed, 13 Jun 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। ग्रामीण इलाकों को पेयजल मुहैया कराने के 50 एकल ग्राम पेयजल योजनाएं प्रस्तावित है लेकिन इन परियोजनाओं के निर्माण के लिए जलनिगम 4058 लाख की दरकार है। मगर बजट के अभाव में स्वच्छ जल पिलाने का सपना साकार होता नहीं दिख रहा है। जलनिगम के सहायक अभियंता आरएस यादव ने बताया कि शासन स्तर पर उनकी योजनाएं प्रस्तावित है। प्रयास जारी है लेकिन सफलता नहीं मिली है।
जलनिगम ने जिले के 50 गांवों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए प्रस्तावित की है। जलनिगम ने राठ विकासखंड के खड़ाखर गांव में 37.20 लाख से पाइप पेयजल योजना बनाना प्रस्तावित किया है। इस बजट से 1 नलकूप 25 किली का उच्चजलाशय व किमी पाइप लाइन डाला जाना प्रस्तावित है। इसी तरह बसेला में 103, बकरई में 54.04, इकठौर में 37.20, टोलाखंगारन में 58.77, मलेहटा में 5640, मझगवां में 113.10, पहाड़ी गढ़ी में 61.44 लाख खर्च आना है। गोहांड ब्लाक के जराखर गांव में पेयजल योजना के लिए 99.51, वीरा में 75.72, उमरिया में 111.92, अमूंद में 106.02, अमगांव में 98.94, धनौरी में 113.70, औंता में 115.12 लाख की लागत आएगी। विकासखंड सुमेरपुर के बिदोखर की योजना के लिए 114.87 लाख, बांकी में 116.07, टिकरौली में 101.89, अतरारमें 74.13, मुंडेरा में 114.88, नदेहरा में 113.70, कैथी में 113.50, कुम्हउपुर में 65.86 व उजनेड़ी में 58.77 लाख खर्च आएगा। सरीला ब्लाक के छेड़ीबेनी में 38.38, हरसुंडी में 68.86, कुपरा में 69.40, इंदपुरा में 64.68, धगवां में 64.67, करियारी में 69.40, न्यूलीबासा में 58.93 लाख की लागत आएगी। मौदहा के मदारपुर 58.39, भुलसी 108.96, बिगहना 99.51, गढ़ा 73.24, भरसवां 49.62, भभई 71.76, भभौंरा 56.41, परेहटा 64.68, मकरावं 64.68, किसवाही 71.76, पाटनपुर 125.50 व कुरारा के झलोखर 116.95, जल्ला 58.47, कनौटा 67.84 तथा मुस्करा के तगारी 52.90, बहदीना 65.85, हुसैना 99.53, महेरा 11.70 लाख की लागत की पेयजल योजनाएं प्रस्तावित है।

Spotlight

Related Videos

वीडियो : प्रियंका चोपड़ा को मिली देश छोड़ने की ‘धमकी’!

प्रियंका चोपड़ा ने रोहिंग्या मुस्लिमों से बांग्लादेश के कैम्प में मुलाकात की। प्रियंका के इस दौरे पर बीजेपी के फायरब्रांड नेता विनय कटियार भड़क गए। विनय कटियार ने कहा कि जो लोग रोहिंग्या का समर्थन कर रहे हैं उन्हें देश छोड़ देना चाहिए।

24 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं।आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते है हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen