सुरक्षा गार्ड के प्रशिक्षण का नहीं मिला मानदेय

Hamirpur Updated Sun, 10 Jun 2012 12:00 PM IST
गोहांड (हमीरपुर)। डूडा के स्वर्ण जयंती शहरी योजना में सुरक्षा गार्ड के प्रशिक्षण का तीन माह के बाद मानदेय, प्रमाण पत्र एवं सुरक्षा किट नहीं मिला है। प्रशिक्षार्थियों ने प्रशिक्षण देने वाले एनजीओ संस्था पर हस्ताक्षर कराने का आरोप लगाया है।
मार्शल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटी एनजीओ ने कक्षा 8 पास युवकों को सुरक्षा गार्ड का प्रशिक्षण 19 दिसंबर से 18 मार्च तक दिया था। इस तीन महीने के प्रशिक्षण के मास्टर ट्रेनर रमेश कुमार व फील्ड आफीसर आरपी सिंह थे। प्रशिक्षण प्राप्त युवक राजेश कुमार, शब्बीर अली, हरनारायण, महेश कुमार, धर्मजीत ने बताया कि उन्हें संस्था ने रोजगार देने का भरोसा दिया था और 400 रुपए प्रतिमाह प्रशिक्षण भत्ता एवं प्रमाणपत्र व सुरक्षा किट देने का आश्वासन दिया था। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण की समाप्ति पर मास्टर ट्रेनर रमेश कुमार ने कोरे प्रपत्रों की तीन प्रतियों में हस्ताक्षर भी करा लिए थे। उन्होंने प्रशिक्षण के नाम पर उन्होंने संस्था के नाम पर बड़े पैमाने पर सरकारी धन हड़पने का आरोप लगाते हुए संस्था पर कार्रवाई करने की मांग की है।

Spotlight

Related Videos

सानिया मिर्जा ने पहली बार पब्लिकली दिखाया बेबी बम्प

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने अपनी प्रेग्नेंसी की खबर सोशल मीडिया में शेयर की है। सानिया ने एक्सर्साइज करते हुए एक पोस्ट शेयर किया और उसपर लिखा, Trying To Keep Fit During Pregnancy। देखिए, ये तस्वीरें

23 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen