विज्ञापन

चोखा धंधा है हल्दी की खेती

Hamirpur Updated Tue, 05 Jun 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। चंद्रशेखर कृषक समिति की मासिक बैठक में किसानों ने कहा कि हल्दी की खेती से अन्य फसलों की अपेक्षा चोखा धंधा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सोमवार को उद्यान विभाग परिसर में चंद्रशेखर कृषक समिति की मासिक बैठक सुशीलचंद्र शुक्ला की अध्यक्षता में हुई। इस मौके पर औडेरा राठ प्रगतिशील किसान कौशल किशोर राजपूत ने बताया कि वह पिछले 10 वर्षों से औषधीय खेती कर रहे है लेकिन बीते वर्ष उद्यान विभाग के आर्थिक सहयोग से हल्दी की खेती की। जिसमें उसे इतना लाभ हुआ कि बीते 10 साल में नहीं हुआ। बताया कि वह अश्वगंधा की खेती करते रहे लेकिन बिक्री के लिए कंपनियों पर निर्भर होने की वजह लाभ नहीं मिल रहा है। लेकिन कंदवाली खेती के वह खुद मालिक है। हल्दी के बोने का समय 15 मई से 15 जुलाई तक है। इसके लिए खेत को तैयार करने के लिए एकड़ में 4 ट्राली गोबर की सड़ी खाद, जिप्सम 4 बोरी के साथ 5 कुंतल हल्दी का बीज डालना पड़ता है और यह फसल 8-9 माह में तैयार हो जाती है। इस वर्ष किसानों को प्रति हेक्टेयर पर 50 कुंतल की पैदावार मिली है। जिससे प्रति एकड़ 60 हजार रुपए का मुनाफा आया है। इस मौके पर जिला उद्यान अधिकारी धीरेंद्र कुमार ने किसानों को शासकीय योजनाओं की जानकारी दी। साथ ही बाग लगाने, ड्रिप सिंचाई व स्प्रिंकलर सेट के प्रयोग किए जाने पर बल दिया। बैठक में रामबाबू शिवहरे, लालाराम यादव, मदन गोपाल प्रजापति, रहीम बख्श, कमल द्विवेदी सहित अन्य किसान मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

ऐसे निकलता है ऑफिस का गुस्सा, करें काबू

भागदौड़ भरी जिंदगी और वर्कप्लेस में काम का तनाव इंसान के गुस्से को बढ़ा रहा है। ऐसा ही एक वीडियो हम आपको दिखाते हैं जिसमें तनाव के गुस्से की वजह से लोगों ने क्या किया...

20 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree