पीसीएफ कें द्रों में नहीं है बारदाना

Hamirpur Updated Sat, 02 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बारदाना न होने से कई केंद्रों पर तौलाई बंद
विज्ञापन

हमीरपुर। गेहूं खरीद के लिए जिले में चल रहे तमाम प्रयास बेमकसद साबित हो रहे है। मौजूदा समय में पीसीएफ केंद्र बारदाना के अभाव में जूझ रहे है। हालांकि इन दिनों खरीद केंद्रों पर पहुंचने वाले किसानों का हरहाल में गेहूं तौल कराए जाने के प्रयास जारी है।
बिचौलियों से गेहूं खरीद प्रभावित हो रही है। जिले में खरीद का लक्ष्य पूरा होने को है। गेहूं बंपर पैदावार होने से किसानों को गेहूं बेचने में दिक्कत आ रही है। तमाम लोग गांवों से खरीदने के बाद क्रय केंद्रों पर बेचने में सफल हो रहे है। ऐसे असरदार लोगों को टोकन भी आसानी से जारी हो रहे है। हालांकि यह टोकन राजस्व विभाग जारी कर रहा है। मंडी में गेहूं की तौल को लेकर जमे किसान कहते हैं कि खरीद केंद्र का एक कांटा बिचौलियों के कब्जे में है। जबकि दूसरे कांटे पर ही किसानों का गेहूं तौला जा रहा है। छानी गांव के किशन व्यास ने बताया कि गांव स्थित पीसीएफ केंद्र एक सप्ताह से बंद है। कहा कि इस केंद्र पर बारदाना नहीं है। यही हाल कुरारा के पीसीएफ केंद्र का है। इसी तरह किसान सेवा केंद्र गोहांड, साधन सहकारी समिति जलालपुर, क्रय विक्रय सुमेरपुर, क्रय विक्रय मौदहा में बारदाना का अभाव होने से गेहूं की खरीद ठप है। जिले में गेहूं की खरीद कर रही तीन एजेंसियों में हाटशाखा ने गुरुवार को 223.20 एमटी, पीसीएफ ने 348.050 एमटी व एग्रो ने 95.70 एमटी गेहूं खरीदा। अभी तक इन केंद्रों ने 31503.70 एमटी गेहूं की खरीद की है। जबकि खरीद का लक्ष्य 35 हजार एमटी है। फिलहाल बारदाना की कमी से पीसीएफ के ज्यादातर गेहूं खरीद केंद्र जूझ रहे है। इसके चलते किसानों को भारी मुसीबत से गुजरना पड़ रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us