Hindi News ›   ›   उठान न होने से क्रय केंद्रों में जगह नहीं

उठान न होने से क्रय केंद्रों में जगह नहीं

Hamirpur Updated Fri, 01 Jun 2012 12:00 PM IST
राठ(हमीरपुर)। गेहूं सरकारी खरीद केंद्रों में गेहूं से भरे बोरों की उठान नहीं होने से क्रय केंद्रों में खरीद प्रभावित हो रही है। जगह के अभाव में मात्र चार से छह ट्राली गेहूं की तुलाई हो रही है। वैसे प्रति केंद्र पर रोज आठ से दस ट्राली गेहूं की तुलाई होती है।
विज्ञापन

जिले के सभी केंद्रों में गेहूं रखने के लिए राठ मंडी समिति में बने वेयर हाउस को बनाया है। पूरे जिले से गेहूं की डिलेवरी होने से वेयर हाउस के तीन गोदाम भर गए हैं। यहां तक कि मंडी में बने चार नीलामी चबूतरों में पूरी तरह से गेहूं से भरे बोरों की लाइनें लग गई। क्रय केंद्र प्रभारी मनमोहन यादव, उमाकांत बादल ने बताया कि केंद्रों पर गेहूं रखने की जगह नहीं बची। जिससे खुले में गेहूं रखना मजबूरी है। गेहूं की डिलेवरी न होने से किसानों का माल भी कम मात्रा में खरीदा जा रहा है। वेयर हाउस इंचार्ज मुरलीधर ने बताया कि अब तक 8144 मीट्रिक टन वेयर हाउस और 5662 एमटी चबूतरों पर गेहूं है। कल से गेहूं की उठान शुरू हो जाएगी। किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष निरंजन सिंह , रामसनेही राजपूत ने डीएम से गेहूं के उठान की मांग की है।

धांधली को रोकने को लेखपाल तैनात
राठ। प्रशासन ने हर केंद्र पर धांधली रोकने के लिए लेखपालों की तैनाती कर दी। अभी तक यह सारी जिम्मेदारी सिर्फ एक लेखपाल पर थी। अब केंद्रों पर लेखपालों की मौजूदगी में किसानों के नंबर लगने पर गेहूं की तुलाई होगी।
तहसीलदार बीके कुशवाहा ने बताया डीएम बी चन्द्रकला के निर्देश पर हर गेहूं क्रय केंद्र पर एक एक लेखपाल की तैनाती कर दी गई है। जो सुबह गेहूं लेकर आने वाले किसानों की सूची बनायेगा। इससे अब कोई भी किसान सूची में अपना नाम दर्ज कराये बिना नहीं रहेगा। हर किसान का पचास कुंतल से अधिक गेहूं नहीं तौला जायेगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00