जलसंस्थान के 498 बकाएदारों की आरसी

Hamirpur Updated Fri, 25 May 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। जलसंस्थान अपने उपभोक्ताओं से जलकर और जलमूल्य की वसूली को लेकर परेशान है। जिले में जलसंस्थान के 498 बकाएदार है। जिनसे संस्थान को 23 लाख 35 हजार रुपए की वसूली करनी है। वसूली के लिए विभाग ने राजस्व विभाग को आरसी भेजी है।
राठ कसबे में 103 बकाएदार है। इनसे 4.94 लाख रुपए वसूले जाने हैं जबकि नौरंगा पेयजल योजना से पानी पी रहे 37 उपभोक्ताओं से 74783 रुपए लेने है। गोहांड कसबे में 26 बकाएदार है। परछा ग्रामीण योजना में 14, पुरैनी में 40, सरीला में 24, अतरौली में 10 व कछवाकला पेयजल योजना में 3 बकाएदारों से कुल 3 लाख 18 हजार 243 रुपए की वसूली होनी है। हमीरपुर नहर में सर्वाधिक बकाएदार 157 है। इन उपभोक्ताओं से जल संस्थान को 10 लाख 49 हजार 739 रुपए वसूलने है जबकि कुरारा में सिर्फ 4 व शेखूपुर में 11 बकाएदार है। मौदहा तहसील क्षेत्र में उमरी पेयजल योजना के 25 बकाएदारों से 1 लाख 27 हजार 603 रुपए की वसूली होनी है। बिवांरमें 44 से 2 लाख 32 हजार 922 रुपए वसूलना है। जलसंस्थान ऐसे 498 बकाएदारों से वसूली को लेकर हाथ पांव मार रहा है। अधिशाषी अभियंता आरपी यादव का कहना है कि उनकी योजनाएं जलमूल्य और जलकर वसूली से ही चलती है। बकायेदारों को नोटिस दी जा चुकी है। उन्होेंने बताया कि बकाया वसूली को राजस्व विभाग को आरसी भेजी गई है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: लड़की को डसने के बाद अस्पताल पहुंचा सांप, मची अफरा-तफरी

यूपी के हरदोई जिले के जिला अस्पताल में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब एक शख्स सांप लेकर वहां पहुंच गया।

21 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen