लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   ›   पहले गेहूं तौल कराने के चक्कर में मारपीट

पहले गेहूं तौल कराने के चक्कर में मारपीट

Hamirpur Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
कुरारा (हमीरपुर)। कृषि मंडी समिति के गेहूं खरीद केंद्रो में पहले तौल करवाने को लेकर किसानों में मारपीट हो रही है। किसानों का आरोप है कि इन खरीद केंद्रो में बिचौलियों का गेहूं धड़ल्ले से खरीदा जा रहा है। वहीं 50 कुंतल से अधिक तौल न करवाने के आदेश के बाद भी बड़े किसानों की खतौनियां लगाकर तौल कराई जा रही है। जिससे केंद्रों में अव्यवस्था चरम पर है।

मंडी में हाटॅ शाखा व पीसीएफ केंद्र का एक-एक केंद्र है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्र शिवनी में भी पीसीएफ का केंद्र खोला है लेकिन पीसीएफ केंद्रों में पैसा व बारदाना का अभाव होने से किसान अपना गेहूं इन केंद्राें में तौल करवाने के लिए हफ्तों से इंतजार में है। इस केंद्र के चार गांव कसबा कुरारा, झलोखर, डामर व कुसमरा को हटाकर हॉट शाखा में जोड़ दिया गया है। जिसके चलते इन गांवों का जमावाड़ा हॉट शाखा में है और पहले तौल कराने के नाम पर किसानों में मारपीट करने लगे है। झगड़े की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझाकर शांत कराया। डामर गांव के किसान खड़ग सिंह, खरौंज के खिल्लन ने बताया कि हॉट शाखा में पड़े किसानों की तौल नही हो पाई। दूसरे केंद्र के जोड़े किसान अपना रुतबा दिखाकर तौल करवाना चाह रहे है। इसी को लेकर किसानों में लड़ाई हुई। जिलाधिकारी के आदेश के बाद 50 कुंतल ही गेहूं खरीद किए जाने के बावजूद पड़ोसी जनपद के बिचौलिए क्षेत्रीय किसानों से मिलकर खतौनियां लगाकर हॉट शाखा में तौल करवा रहे है। उधर हॉट शाखा केंद्र प्रभारी तकदीर सचान ने बताया कि राजस्व विभाग के अधिकारी खतौनी फोटो प्रमाणित करने के बाद टोकन जारी करते है। उसी आधार पर तौल कराई जा रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00