पहले गेहूं तौल कराने के चक्कर में मारपीट

Hamirpur Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

कुरारा (हमीरपुर)। कृषि मंडी समिति के गेहूं खरीद केंद्रो में पहले तौल करवाने को लेकर किसानों में मारपीट हो रही है। किसानों का आरोप है कि इन खरीद केंद्रो में बिचौलियों का गेहूं धड़ल्ले से खरीदा जा रहा है। वहीं 50 कुंतल से अधिक तौल न करवाने के आदेश के बाद भी बड़े किसानों की खतौनियां लगाकर तौल कराई जा रही है। जिससे केंद्रों में अव्यवस्था चरम पर है।
विज्ञापन

मंडी में हाटॅ शाखा व पीसीएफ केंद्र का एक-एक केंद्र है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्र शिवनी में भी पीसीएफ का केंद्र खोला है लेकिन पीसीएफ केंद्रों में पैसा व बारदाना का अभाव होने से किसान अपना गेहूं इन केंद्राें में तौल करवाने के लिए हफ्तों से इंतजार में है। इस केंद्र के चार गांव कसबा कुरारा, झलोखर, डामर व कुसमरा को हटाकर हॉट शाखा में जोड़ दिया गया है। जिसके चलते इन गांवों का जमावाड़ा हॉट शाखा में है और पहले तौल कराने के नाम पर किसानों में मारपीट करने लगे है। झगड़े की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझाकर शांत कराया। डामर गांव के किसान खड़ग सिंह, खरौंज के खिल्लन ने बताया कि हॉट शाखा में पड़े किसानों की तौल नही हो पाई। दूसरे केंद्र के जोड़े किसान अपना रुतबा दिखाकर तौल करवाना चाह रहे है। इसी को लेकर किसानों में लड़ाई हुई। जिलाधिकारी के आदेश के बाद 50 कुंतल ही गेहूं खरीद किए जाने के बावजूद पड़ोसी जनपद के बिचौलिए क्षेत्रीय किसानों से मिलकर खतौनियां लगाकर हॉट शाखा में तौल करवा रहे है। उधर हॉट शाखा केंद्र प्रभारी तकदीर सचान ने बताया कि राजस्व विभाग के अधिकारी खतौनी फोटो प्रमाणित करने के बाद टोकन जारी करते है। उसी आधार पर तौल कराई जा रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us