पुलिस सकारात्मक सोच के साथ काम करे

Hamirpur Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

हमीरपुर। इलाहाबाद जोन के पुलिस महानिरीक्षक आलोक शर्मा ने कहा कि उनका प्रयास पुलिस में सकारात्मक सोच बदलवाने का है ताकि थाने पहुंचने वाले पीड़ितों की व्यथा को समझने के साथ कार्रवाई की जा सके। आईजी ने कहा कि रेप की घटनाओं को रोकने और अपराधी को सजा दिलाने के साथ पीड़ित को जल्द न्याय दिलाने वाले थानेदार को इनाम देकर सम्मानित किया जाएगा।
विज्ञापन

पुलिस महानिरीक्षक ने बुधवार को मुख्यालय में पुलिस लाइन सभागार में सीओ व थानाध्यक्षों की बैठक ली। इसके बाद जनप्रतिनिधियों से भेंट की और मीडिया से मिले। बैठक में थानाध्यक्षों को जनता की प्राथमिकताएं बताने आए है। पुलिस से एक ही बात कही जा रही है कि वह अपनी सोच बदले। पुलिस के पास कुछ चीजें कंट्रोल में है। जो पीड़ित है उस व्यक्ति की पीड़ा को समझे। कोई भी व्यक्ति थाने जाने से डरता है। लोगों की इस सोच को बदलने का काम करना है। थानेदार अपने सिपाही तक बात पहुंचाए कि वह संबंधित पीड़ित की बात को ध्यान से सुने। वह घटनाओं का इंतजार किए बगैर जनता के बीच रहकर काम करना सीखे। बाइक र्स गैंग की घटनाओं पर कहा कि बाइक बनाने वाली कंपनियों के पास मात्र दस प्रकार के ताले है। ऐसे में बाइक चोरी न हो, इसके लिए संबंधित बाइक मालिक को एडीशनल लॉक का इंतजाम करना होगा। इसी माह जोन में चोरी गई 38 बाइकें बरामद हुई है। उन्होंने बाल यौन शोषण पर कहा कि ऐसी घटनाएं मंडल में ज्यादा हो रही है। इसे रोकने के लिए अपराधी को सजा दिलाने में पहल करनी होगी। अदालत में ज्यादा से ज्यादा पैरवी कर अपराधी को सजा दिलाने में वाले थानाध्यक्षों को वह अधिक से अधिक इनाम देने का प्रयास करेंगे। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक सैय्यद वसीम अहमद मौजूद रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us