विज्ञापन

खरीद केंद्रों में धांधली पर किसानों का गुस्सा फूटा

Hamirpur Updated Tue, 22 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
राठ(हमीरपुर)। गेहूं खरीद केंद्रों में धांधली और अराजकता के खिलाफ किसानों का गुस्सा सोमवार को सड़कों पर फट पड़ा। लंबे समय से केंद्रों में चल रही धांधली और तुलाई को लेकर छोटे किसानों में आक्रोश भरा हुआ था। सोमवार को किसान यूनियन और किसानों ने गल्ला मंडी के सामने ट्रैक्टरों को आड़ा तिरछा लगा कर करीब एक घंटे जाम लगा दिया। किसानों के जाम से राठ पनवाड़ी मार्ग पूरी तरह से ठप हो गया। सूचना पर पहुंचे एसडीएम उमेश कुमार मंगला, नवागंतुक सीओ एमपी सिंह, प्रभारी कोतवाल अमित कुमार यादव और तहसीलदार मौके पर पहुंचे और किसानों को शांत कराया। खरीद केंद्रों पर किसानों के गेहूं तुलाई का तहसीलदार ने आश्वासन दिया, तब जाम खुल सका।
विज्ञापन
पिछले एक पखवारे से क्षेत्र के सैकड़ों किसान टोकन लिए गेहूं तौलाने के केंद्रों पर खड़े हैं फिर भी उनका नंबर नहीं आ रहा है। वहीं सेटिंग गेटिंग करने वाले व्यापारियों और बड़े किसानों का गेहूं तौला जा रहा है। सोमवार दोपहर गेहूं तुलाई को लेकर किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष निरंजन सिंह ने मंडी गेट के सामने किसानों के साथ जाम लगा दिया। उन्होंने कहा कि प्रशासन की मिली भगत से केंद्रों पर व्यापारियों का गेहूं धड़ल्ले से तौला जा रहा है जबकि किसान टोकन लेने के बाद भी अपना गेहूं बेचने के लिए दिन-रात परेशान है। केंद्र प्रभारी अभिलेखाें में हेराफेरी कर किसानों के नंबर पीछे कर देते हैं। रात में चोरी छिपे व्यापारियों का गेहूं तौला जाता है। शिकायत करने पर प्रशासनिक अधिकारी किसानों की बात नहीं सुनते। यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष रामसनेही राजपूत ने कहा कि जिला प्रशासन को चाहिए कि हर केंद्र पर कांटों की संख्या बढ़ाई जाए। जाम लगने से मौके पर पहुंचे एसडीएम ने किसानाें से कहा कि केंद्रों पर किसी भी तरह की धांधली नहीं होने दी जाएगी। इस मौके पर स्वामीदीन, राजकुमार, चन्द्रशेखर, रमजान खां, घनश्याम रिछारिया, परमानंद लोधी, कढोरी लाल, प्रभुदयाल, रमाकांत, जगराम, हरिश्चन्द्र सहित सैकड़ों किसान मौजूद रहे।
हर गेहूं खरीद केंद्र पर लगाए तीन-तीन कांटे
हमीरपुर। राठ की मंडी समिति के गेहूं खरीद केंद्रों में किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए तौल के लिए कांटे बढ़ा दिए गए हैं। अब हर केंद्र पर तीन-तीन कांटे लगाए गए है। बारदाना की कमी से जूझ रहे केंद्रों को 55 गांठे मुहैया कराई गई हैं।
जिले में गेहूं की खरीद का लक्ष्य 35 हजार मीट्रिक टन है। अभी तक 24 हजार मीट्रिक टन की खरीद हो चुकी है। बारदाना की कमी होने से खरीद कार्य प्रभावित हो गया था। सबसे ज्यादा पीसीएफ के क्रय केंद्र पर है हालांकि इस कमी को दूर करने के लिए मार्केटिंग विभाग लगा है। खाद्य विपणन अधिकारी नरेंद्र प्रकाश ने बताया कि राठ कसबे में पांच केंद्र हैं। बारदाना की कमी को पूरा करने के लिए 55 गांठे उपलब्ध कराई गई है। सभी केंद्रों पर तीन तीन कांटे लगवाए है। उन्होंने कहा कि कानपुर से 200 गांठे मांगा जाना प्रस्तावित है। जिलाधिकारी के निर्देश पर हर किसान का अधिकतम 50 कुंतल ही गेहूं तौले जाने के निर्देशों पर अमल कराया जा रहा है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

एशिया कप 'सुपर संडे' में भारत-पाक की भिड़ंत समेत इन खबरों पर रहेगी हमारी नजर

राफेल डील पर आगे क्या होगा बवाल, एशिया कप में भारत-पाक के बीच भिड़ंत समेत इन बड़ी खबरों पर रहेगी हमारी नजर

22 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree