विज्ञापन

लाखों की शीशम की लकड़ी को लगाया ठिकाने

Hamirpur Updated Mon, 21 May 2012 12:00 PM IST
सरीला (हमीरपुर)। पिछले महीने आए तूफान से कसबे में गिरे आधा दर्जन शीशम पेड़ों को नगर पंचायत ने ठिकाने लगा दिया है। आरामशीन पर शीशम का फर्नीचर तैयार कराया गया है। बिना नीलामी गायब हुई कीमती लकड़ी का बंदरबाट कर लिया गया है। फिलहाल इस लकड़ी की कीमत लाखों में आंकी जा रही है। इस मामले में नगर पंचायत के लिपिक राघवेंद्र ने आरोपों को गलत बताया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
बीते माह आए तूफान से लगभग डेढ़ दर्जन पुराने पेड़ ढह गए थे। गुरुखुरु तालाब के पास, इलाहाबाद बैंक के पास, नगर पंचायत कार्यालय के बगल में, रमकुंडा बस स्टैंड के पास व जरिया बस स्टैंड सहित अन्य आधा दर्जन पुराने बेश कीमती शीशम के पेड़ उखड़ गए। इन पेड़ों की लकड़ी नगर पंचायत ने उठवा ली और बस स्टैंड पर लगी आरा मशीन में भिजवा दी। इस लकड़ी का फर्नीचर बनवाकर आपस में बंाट लिया गया। कई पेड़ आज भी मौके पर उखड़े पड़े है।

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

आज का पंचांग : 22 जनवरी 2019, मंगलवार

मंगलवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग मंगलवार 22 जनवरी 2019

22 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree