बदमाशों ने आटो रुकवा आठ यात्रियों को लूटा

Hamirpur Updated Fri, 18 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
मौदहा (हमीरपुर)। कानपुर सागर राष्ट्रीय राजमार्ग के नारायच व मवइया गांव के बीच बुधवार की देर रात बाइक सवार बदमाशों ने एक आटो को जबरन रुकवा कर सूनसान जगह पर ले गए और उसमें सवार आठ यात्रियों से मारपीट कर लूटपाट की। लखनऊ से धरना प्रदर्शन में शामिल होने के बाद आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां घर लौट रही थीं। बाइक सवार तीनों बदमाशों के पास अवैध असलहे थे। लुटे-पिटे लोगों ने गुरुवार की सुबह कोतवाली पुलिस को सूचना दी।
विज्ञापन

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का बुधवार को लखनऊ में प्रदर्शन था। प्रदर्शन के बाद यह लखनऊ जबलपुर एक्सप्रेस ट्रेन से रात 10 बजे रागौल स्टेशन पर उतरी। इन लोगाें ने पास के गांव छिरका जाने के लिए अपने गांव के आटो मालिक चंद्रिका प्रसाद को फोन करके स्टेशन बुलवा लिया। उसी के आटो पर सवार होकर छिरका गांव के लिए चल दिए। इस आटो में पांच आंगनबाड़ियों के अलावा एक आंगनबाड़ी का पति व आटो मालिक सवार थे। उन्होंने बताया कि कसबे से 4 किमी दूर नारायच गांव के आगे काले रंग की बिना नंबर की बाइक से तीन लोगों ने उनका पीछा किया। मवइया के पास उनके आटो को जबरन घेरकर रुकवाया और असलहों से लैस बदमाश सूनसान गांव के रास्ते पर ले गए। बदमाशों ने एक आंगनबाड़ी के दो वर्षीय बच्चे को छीनकर उसके पैसे, मोबाइल, जेवर आदि लूट लिया। विरोध करने पर जान से मार देने की धमकी दी। लूटपाट करने के बाद तीनों बदमाश मोटरसाइकिल से फरार हो गए। गुरुवार को सुबह लुटे-पिटे लोगों ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई। छिरका की आंगनबाड़ी फूलकली के सोने के बाला व तोड़िया, मोबाइल तथा चार सौ रुपया, प्रेमादेवी का मोबाइल व 600 रुपए व इसके पति रामस्वरूप का मोबाइल व 850 रुपए, द्रोपती के 550 रुपए, मोबाइल, राजकुमारी के 300 रुपए, बाला, कंगन, सुनीता के बाला कंगन व 150 रुपए तथा आटो चालक घनश्याम की पिटाई करते हुए 200 रुपए तथा आटो मालिक के 1380 रुपए व मोबाइल छीन लिया है। कोतवाल संतलाल ने बताया कि यह मामला उनके संज्ञान में है। वह इसकी जांच कर रहे है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us