नौरंगा अटगांव, मझगवां स्वास्थ्य केंद्र में नही रहते डाक्टर

Hamirpur Updated Tue, 15 May 2012 12:00 PM IST
राठ(हमीरपुर)। नौरंगा गांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीन बने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डाक्टरों, फार्मासिस्टों के न रहने से ग्रामीणों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। मजबूरी में ग्रामीणों को झोला छाप की शरण में जाना पड़ता है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डा. एके सिंह ने बताया कि वे अस्पताल में रहते हैं। अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं रोगियों को दी जा रही है।
दो साल पहले नौरंगा में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को खोला गया था। अधिकांश समय डाक्टरों, फार्मासिस्टों और वार्ड वाय के गायब रहने से रोगियों को इलाज के लिए भटकना पड़ रहा है। मझगवां, अटगांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का हाल खराब है। अटगांव के किसान जमुनादीन, परशुराम ने बताया कि अस्पताल की ओर स्वास्थ्य सेवाएं नहीं दी जा रही है। हालत यह है कि आपातकालीन सेवाएं भी ठप हैं। इमरजेंसी होने पर रोगी को राठ या झांसी ले जाना पड़ता है। इसी तरह से महिलाओं के प्रसव के लिए भी यहां पर कोई सुविधाएं नहीं है।

Spotlight

Related Videos

इस प्यारी सी तस्वीर में वो हैं जिन्हें आप बहुत अच्छे से जानते हैं, देखिए

इंटरनेट पर एक फोटो खूब वायरल हो रही है। फोटो ऐसा, जिसके हर छोर से रोमांस टपक रहा है। इश्क की अगल ही कमिस्ट्री देखने को मिली है फोटो में। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर उस फोटो में है क्या? तो खुद ही देख लीजिए।

21 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen