पानी बचाने के लिए पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार मिला

Hamirpur Updated Fri, 11 May 2012 12:00 PM IST
मौदहा (हमीरपुर)। जिले में जल संरक्षण और विकास की दिशा में कराये गए कार्यों को देखते हुए केंद्रीय पंचायत मंत्रालय ने मौदहा विकासखंड के ब्लाक प्रमुख शिवकुमार पांडेय को पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से नवाजा है। इसकी जानकारी गुरुवार को उन्होंने प्रेस वार्ता में दी। उन्होंने कहा कि पेयजल और विकास के लिए लगातार प्रयास करते रहते हैं।
ब्लाक प्रमुख ने बताया कि वह दूसरी बार इस पद पर आसीन हुए है जबकि इसके पहले उनकी पत्नी बीना पंाडेय ब्लाक प्रमुख रह चुकी हैं। उन्होंने कहा कि भूमिगत जलस्तर नीचे खिसकने पर उन्होंने केंद्र व प्रदेश सरकार के निर्देश पर तालाबों की खुदाई, चेकडैम व बंधियों का निर्माण बड़े पैमाने पर कराया। नतीजा काफी उत्साहजनक रहा। क्षेत्र में पानी के जलस्तर में सुधार हुआ। जल निकासी, वृक्षारोपण, नालियाें तथा सड़कों का विकास युद्ध स्तर पर कराया गया। क्षेत्र पंचायत की तरफ से बड़े पैमाने पर तालाबों की खुदाई व सफाई कराई गई। केंद्र व प्रदेश स्तर की टीमों की जांच में ये सारे कार्य सही साबित हुए। इस वजह से पंचायत राज मंत्रालय ने प्रदेश भर में तीन क्षेत्र पंचायत व 14 ग्राम पंचायतों को उत्कृष्ट कार्यों के लिए चुना। इसके लिए उन्हें 24 अप्रैल को दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय पंचायत राज मंत्री जयराम रमेश ने पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से सम्मानित किया।
उन्होंने कहा कि वहां पर मनरेगा के संदर्भ में सुझाव मांगने पर उन्होंने कहा कि यदि सरकार 40 प्रतिशत मजदूरी और 60 प्रतिशत सामग्री के लिए नियम बना दे तो विकास कार्य और दिखाई देगा। यहां आकर उन्होंने कहा कि पानी की समस्या के निराकरण को 21 मई को क्षेत्र पंचायत की बैठक बुलाई है। उन्होंने बीडीओ सहित सभी कर्मियों से तालाब, पोखर और हैंडपंपों की मरम्मत करने के लिए कहा है।

Spotlight

Related Videos

भारतीय डाक में निकलीं 2,411 नौकरियां, ऐसे करें अप्लाई

करियर प्लस के इस बुलेटिन में हम आपको देंगे जानकारी लेटेस्ट सरकारी नौकरियों की, करेंट अफेयर्स के बारे में जिनके बारे में आपसे सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं या इंटरव्यू में सवाल पूछे जा सकते हैं और साथ ही आपको जानकारी देंगे एक खास शख्सियत के बारे में।

24 जनवरी 2018