बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सोते समय संदिग्ध हालात में मां बेटे की जलकर मौत

Hamirpur Updated Thu, 10 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
राठ(हमीरपुर)। कोतवाली क्षेत्र के सरसई गांव में बुधवार तड़के संदिग्ध हालात में मां-बेटे की आग से जलकर मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे सीओ और कोतवाल ने घटनास्थल का मुआयना किया। मां-बेटे की मौत के बारे में कोतवाल ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के सही कारणों का पता लगेगा। फिलहाल हालातों को देखते हुए करंट की चपेट में आने और स्पार्किंग से आग लगने के बाद दम घुटने से मौत की संभावना जताई है। वहीं महिला के मायके वालों ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि दहेज की मांग पूरी न होने पर गला दबाकर हत्या करने के बाद जला दिया है।
विज्ञापन

सरसई गांव के सचिन लोधी पुत्र विश्वनाथ लोधी ने बताया कि उसके पिता जानवर बांधने वाले घर में रहते हैं जबकि वह और उसकी पत्नी मनोज कुमारी (22) व पुत्र आयुष (2) के साथ दूसरे घर में रहता है। बुधवार तड़के वह पत्नी और बच्चे को सोता हुआ छोड़कर शौच के लिए गांव के बाहर गया था। उस बीच उसके कमरे से धुआं निकलते देख परिजनों और ग्रामीणों ने शोर मचाया। परिजनों और ग्रामीणों ने पानी डालकर आग बुझाई। आग बुझने के बाद जली अवस्था में मां-बेटे के शव पलंग पर देखे सबके होश उड़ गए। इस पर घर में रोना पीटना मच गया। सीओ प्रकाश कुमार राय और कोतवाल आरएन सिंह मौके पर पहुंचे। कोतवाल ने संभावना जताई कि मां बेटे को करेंट लगने के बाद हुई स्पार्किंग से कमरे में आग लग गई। दरवाजा बंद होने से धुएं भर जाने पर घुटन होने से दोनों की मौत हो गई। लेकिन असली वजह पोस्टमार्टम और फायर ब्रिगेड रिपोर्ट आने के बाद ही पता लगेगी। सचिन ने बताया कि 21 मई को उसकी बहन प्रतिमा की शादी है। दूसरी ओर मृतका के अतरौली धगवां गांव निवासी पिता भगवान सिंह पुत्र हिंदूपत ने ससुराल वालों पर बेटी और नाती की गला दबा आग से जलाकर मार डालने का आरोप लगाया है। पिता ने कोतवाली में दहेज की मांग पूरी न होने पर हत्या की तहरीर दी है। इस घटना से गांव में मातम छाया हुआ है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us